TrueCaller काम कैसे करता है; क्या Truecaller हमेशा सही डिटेल देता है?

बदलते हुए इस टेक्नोलॉजी के युग में आजकल हर कोई Techy होना चाहता है, और इस बदलती हुई टेक्नोलॉजी ने हमारे बहुत से काम को आसान कर दिया है। Truecaller भी उन सब में से एक है, Truecaller की मदद से हमें कॉल उठाने से पहले ही पता चल जाता है कि हमें किस व्यक्ति ने कॉल किया है और वह कहां से बात कर रहा है।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा कि Truecaller काम कैसे करता है या फिर Truecaller को कैसे पता चलता है कि इस व्यक्ति ने कॉल किया है? क्या Truecaller हमेशा सही होता है? इन सब बातों के बारे में आज आप अच्छे से जानेंगे और उम्मीद हैं कि इसके बाद में आपको Truecaller से रिलेटेड कोई भी डाउट नहीं रहेगा।

truecaller kaise kaam karta hai

Truecaller के पास आपके Number की जानकारी कहा से आती है

हो सकता है आपको यह सुनकर कुछ अजीब लगे कि ट्रूकॉलर को सारी डिटेल आप ही देते हैं, जी हां ट्रूकॉलर अपने डेटाबेस में आपके द्वारा ही डिटेल्स को सेव करता है।जब आप Truecaller एप्लीकेशन को प्ले स्टोर से डाउनलोड करते हैं तो आपसे Truecaller कुछ परमिशन मागता है जिनमें हम Truecaller को अपने कोंटेक्ट शेयर करने की परमिशन भी दे देते हैं। इसके बाद Truecaller के डेटाबेस में आपके सारे कॉन्टेक्ट सेव हो जाते है।

Truecaller कैसे काम करता है

Truecaller आप ही के मोबाइल से आपके सारे कॉन्टेक्ट को अपने डेटाबेस में सेव कर लेता है, सेव करने के बाद जब भी कोई व्यक्ति किसी को कॉल करता है तो ट्रू कॉलर में पहले से सेव हुआ नाम और डिटेल उस व्यक्ति को दिखाता है जिसके पास कॉल आ रही होती है। कॉल रिसीव करने वाले को उस व्यक्ति का क्या नाम दिखेगा यह इस बात पर डिपेंड करता है कि जब Truecaller के डेटाबेस में उस व्यक्ति का नंबर सेव हुआ तब उस नंबर पर क्या नाम और लोकेशन थी।

अगर आप इसका एग्जांपल देखना चाहें की Truecaller के पास आपकी कोई डिटेल नहीं होती तो आप अपने किसी नए नंबर के बारे में Truecaller पर सर्च कर सकते हैं सर्च करने पर आपके उसने नंबर की कोई भी डिटेल नहीं मिलेगी क्योंकि Truecaller के डेटाबेस में अभी आप के नंबर पर डिटेल सव ही नहीं हुई।

क्या Truecaller हमेशा सही डिटेल देता है?

Truecaller हमेशा आपको सही जानकारी नहीं देता क्योंकि Truecaller वहीं जानकारी आपको देगा जो उसके डेटाबेस में सेव है, एग्जांपल के लिए अगर देखा जाए तो आपने अपने दोस्त का नाम किसी निक नेम से सेव करके रखा है और सबसे पहले आप ही अपने दोस्त का नंबर सेव करते हैं और साथ ही आप Truecaller को यूज़ भी कर रहे हैं तो टूकोलर के डेटाबेस में आपने उस नंबर पर जो भी नाम लिखा है वही सेव हो जाता है

उसके बाद में जब आपका दोस्त किसी दूसरे व्यक्ति को कॉल करता है तो उनको वही नाम दिखाता है जो आपने सेव किया है। कई बार इसमें ऐसा भी होता है कि आपका नाम अगर ज्यादा लोगों ने एक जैसा ही सेव किया है तो ज्यादा संख्या होने के कारण Truecaller आपके नंबर पर वह डिटेल दिखाता है।

उदाहरण के तौर पर देखें तो 20 लोगों आपका निक नेम को सेव किया है और 50 लोगों ने आप के रियल नेम को सेव किया है तो Truecaller रिजल्ट्स में 50 लोगों ने जो नाम सेव किया है उसको दिखाएगा।

truecaller kaise kaam karta hai

अगर आप Truecaller को अपने मोबाइल में इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो आपके कॉन्टेक्ट्स Truecaller के डेटाबेस में सेव नहीं होंगे ऐसा तभी होता है जब आप ट्रूकॉलर को इस्तेमाल करते हो प्ले स्टोर में Truecaller जैसी आपको बहुत सारी एप मिलेगी लेकिन सबसे ज्यादा पॉपुलर Truecaller रही है जिसमें लगभग 3 Billion (300 Cror) से ज्यादा यूजर्स का डाटा सेव है।

ऐसे में बेहतर यही होगा कि आप अगर कोई ऐसी एप्लीकेशन यूज करना चाहते हैं तो Truecaller को ही यूज़ करिए क्योंकि यह आपको सटीक और जल्दी इंफॉर्मेशन उपलब्ध करवाता है। उम्मीद करता हूं अब आप समझ ही गए होंगे कि Truecaller काम कैसे करता है।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो कमेंट जरुर करिए और नीचे अपनी ईमेल ID डालकर हमारी वेबसाइट /ब्लॉग को सब्सक्राइब भी जरूर कर लें।

ये भी जाने:-

मुझे इंटरनेट टेक्नोलॉजी के बारे में जानने और इसे लोगो के साथ शेयर करना अच्छा लगता है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हु। इसके अलावा मुझे अच्छी किताबें पढ़ने और लोगों को ऑब्ज़र्व करना भी अच्छा लगता है।

7 COMMENTS

  1. Sir turecaller use korne por email kaa message vi turecaller por send hoti hei kia?sir turecaller use sei phehele delete kia data vi turecaller por recovery hoti hei kia?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here