Apple / iPhone कहा की कंपनी है मालिक कौन है इतिहास

Apple इस नाम से आज बच्चा बच्चा वाकिफ है और होगा भी क्यू नही क्योंकि हमारे समाज ने Apple को एक ब्रांड बनाने की जगह एक स्टेटस बना दिया है, कुछ लोगों ने ये मान लिया है की किसी के पास iPhone है तो वो बहुत अमीर है या उसके पास काफी पैसे है, हा कुछ हद तक ये बात सही भी है लेकिन पूरी तरह से सही नहीं है। इस ब्लॉग पोस्ट मे आप जानेंगे की Apple कहा की कंपनी है और इसके मालिक कौन है। 

iPhone बहुत की कम लोगों के पास देखने को मिलता है क्योंकि Apple का कोई भी नया iPhone 50,000 से कम की कीमत मे नहीं मिलता, हालांकि पूराना iPhone 30 हजार के आस पास की प्राइस मे खरीदा जा सकता है। आईफोन को कुछ लोग केवल दिखावे के लिए भी खरीदते है। 

Apple के फोन मे अलग बस इतना सा है की आपको इसमे Android की जगह Apple का खुद का ऑपरेटिंग सिस्टम iOS मिलता है इसके अलावा इसका कैमरा और परफॉरमेंस काफी अच्छे होते है, एक 25,000 का एंड्रॉयड फोन मे भी आपको काफी अच्छा कैमरा और परफॉरमेंस मिलता है लेकिन फिर भी लोग और ज्यादा पैसे देकर iPhone खरीदना पसंद करते है इसका केवल एक ही कारण है जो की है ब्रांड वैल्यू। 

Apple किस देश की कंपनी है

Apple अमेरिका की मल्टीनैशनल टेक्नॉलजी कंपनी है जिसका मुख्यालय कैलिफोर्निया मे है, ये कंपनी कन्सूमर इलेक्ट्रॉनिक, सॉफ्टवेयर व ऑनलाइन सेवाए लोगों को उपलब्ध करवाती है, Apple दुनिया की सबसे बड़ी टेक कंपनीयो मे से एक है, Apple की स्थापना 1 अप्रैल 1976 मे Apple कंप्युटर के लॉन्च के साथ हुई थी। 

एप्पल कन्सूमर इलेक्ट्रॉनिक मे iPhone स्मार्टफोन, iPad टैबलेट, Mac कंप्यूटर, iPod मीडिया प्लेयर, Apple Watch, Apple TV व Airpods डिजाइन व बेचने का काम करती है, Apple के स्मार्टफोन के लिए iOS ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसे केवल एप्पल के फोन मे इस्तेमाल किया जा सकता है और कंप्यूटर के लिए macOS है जिसे केवल Apple के कंप्यूटर या लैपटॉप मे इस्तेमाल किया जा सकता है। 

शुरुआत मे एप्पल का फोकस केवल कंप्युटर पर था 1977 के आस पास कंप्युटर का दोर शुरू ही हुआ था हालांकि बड़े बड़े ऑफिस मे पहले से कंप्युटर का इस्तेमाल हो रहा था लेकिन उन्हे इस्तेमाल करना बहुत ज्यादा मुश्किल था, स्टीव जॉब्स व  स्टीव वॉजनियाक द्वारा पर्सनल कंप्युटर को लोगों के जीवन मे लाने के बाद कंप्युटर इस्तेमाल करना काफी आसान हो गया था और ये आकार मे भी काफी छोटे थे। 

1994 मे एप्पल ने अपना पहला ऑपरेटिंग सिस्टम Macintosh लॉन्च किया, लॉन्च के शुरुआती 3 महीनों मे तो लोगों ने इसे काफी पसंद किया लेकिन इसके बाद इसकी बिक्री बहुत कम हो गई, इसके पीछे कारण ये था की इस OS पर चलने वाले बहुत ही कम कंप्यूटर प्रोग्राम थे इसके साथ साथ बहुत से यूजर को स्लो स्पीड का सामना भी करना पड रहा था। 

स्टीव जॉब्स ने  29 जून 2007 को पहला iPhone लॉन्च किया जो की एक 2G स्क्रीन टच स्मार्टफोन था, इस फोन की कीमत 499 अमेरिकी डॉलर रखी गई, इस iPhone को खरीदने के लिए लोगों मे काफी जोश था, फोन की सेल शुरू होने के कुछ देर बाद ही सभी फोन बिक गए और बहुत से लोगों ने घंटों लाइन मे इंतजार किया। 


Apple का मालिक कौन है? 

Apple Founders

Apple कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 मे स्टीव जॉब्स, स्टीव वॉजनिएक व रोनाल्ड वेन ने की थी, हालांकि कंपनी बनने के बाद रोनाल्ड वेन ने अपने सभी शेयर जॉब्स व वॉजनिएक को केवल 800 अमेरिकी डॉलर मे बेच दिए और कंपनी से अलग हो गए। 

Steve Jobs का जन्म 24 फ़रवरी 1955 को अमेरिका मे हुआ स्टीव जॉब्स एक बहुत ही अच्छे बिजनेसमैन, डिजाइनर व इन्वेस्टर थे, 5 ऑक्टोबर 2011 को कैंसर के कारण इनका निधन हो गया। 

Macintosh (कंपनी द्वारा बनाया गया ऑपरेटिंग सिस्टम) की सेल बहुत ज्यादा कम होने पर कंपनी मे Steve Jobs के बारे मे कई तरह की बातें होने लगी John Sculley जो की उस समय कंपनी के CEO थे और स्टीव जॉब्स द्वारा हायर किए गए थे। 

John Sculley ने स्टीव जॉब्स को Macintosh डिविशन के जनरल मैनेजर पद से हटाने का निर्णय लिया इन्हे कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर से भी पूरा सपोर्ट मिला जिसके चलते स्टीव जॉब्स को खुद की बनाई कंपनी से सितंबर 1985 ने इस्तीफा देना पड़ा। 

बाद मे स्टीव जॉब्स ने Pixar कंपनी बनाई जिसने उनकी Apple के CEO बनने मे भी मदद की, हालांकि जॉब्स के इस्तीफे के कुछ समय बाद कंपनी को स्टीव जॉब्स की कमी महसूस हुई। 


सारांश 

यहा आपने जाना की iPhone बनाने वाली Apple कंपनी कहा की है और इसकी शुरुआत कैसे हुई, Apple के प्रोडक्ट महंगे जरूर होते है लेकिन क्वालिटी व ब्रांड वैल्यू के मामले मे एप्पल सबसे आगे है, यही कारण है की बड़े सेलिब्रिटी ज़्यादकर एप्पल के प्रोडक्ट ही इस्तेमाल करते है। 

आपके काम की अन्य पोस्ट:-

मुझे इंटरनेट टेक्नोलॉजी के बारे में जानने और इसे लोगो के साथ शेयर करना अच्छा लगता है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हु। इसके अलावा मुझे अच्छी किताबें पढ़ने और लोगों को ऑब्ज़र्व करना भी अच्छा लगता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here