Flipkart कहा की कंपनी है इसका मालिक व संस्थापक कौन है

आज लगभग सभी चीजें ऑनलाइन घर बैठे खरीदी जा सकती है, यहां तक की अब आप घर बैठे अपने पास के किसी भी रेस्टोरेंट से खाना मंगवा सकते है, टैक्सी बुक कर सकते है। फ्लिपकार्ट ने भी लोगों के शॉपिंग करने का तरीका बदल दिया। इस ब्लॉग पोस्ट मे आप जानोगे की फ्लिपकार्ट कहा की कंपनी है और इसके मालिक कौन है?

Flipkart Ke Bare Me

बड़े शहरों मे ऑनलाइन सामान खरीदने का चलन पहले से ही है लेकिन समय के साथ साथ ज्यादा से ज्यादा लोग ऑनलाइन ही सामान खरीदना पसंद करेंगे इसके पीछे कई कारण है जैसे की ऑनलाइन मे आप आराम से अपने अनुसार तसल्ली से कोई भी सामान देख सकते है और साथ ही जिन लोगों ने उस समान को इस्तेमाल किया है उनका रिव्यू जान सकते है, दूसरा यह की बहुत सी चीजे ऑनलाइन मार्केट से बाजार की तुलना मे सस्ती मिलती है। 

फ्लिपकार्ट से आज लाखों लोग सामान खरीदते है, आज Flipkart के अलावा भी बहुत सारी ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट उपलब्ध है लेकिन जब 2007 मे फ्लिपकार्ट बना था तब माहौल कुछ अलग था, आज लोगों के लिए ऑनलाइन कुछ भी मंगवाना एक आम बात है लेकिन उस समय ये बिल्कुल नई और अलग बात थी। 

Flipkart किस देश की कंपनी है? 

फ्लिपकार्ट भारत की एक ई कॉमर्स कंपनी है जिसका मुख्यालय बेंगलुरु कर्नाटक मे है, फ्लिपकार्ट को साल 2007 में बनाया गया था और तब कंपनी का फोकस केवल ऑनलाइन किताबें बेचने पर था, बाद मे धीरे धीरे Flipkart पर कंप्यूटर संबंधित उपकरण मिलने शुरू हुए और आज लगभग हर चीज यहां खरीदी जा सकती है। 

फ्लिपकार्ट भारत की पहले नंबर पर सबसे बड़ी ई कॉमर्स कंपनी है इसके बाद Amazon का नंबर आता है जो इससे थोड़ी ही पीछे है, Flipkart कंपनी सिंगापूर मे रेजिस्टर्ड है इसके अलावा अगस्त 2018 मे अमेरिकी रीटेल चैन कंपनी Walmart ने 16 बिलियन अमेरिकी डॉलर मे फ्लिपकार्ट के 81% शेयर खरीद लिए थे। 

इस डील के साथ ही फ्लिपकार्ट के फाउंडर सचिन बंसल ने भी CEO के पद से इस्तीफा दे दिया, 13 नवंबर 2018 मे फ्लिपकार्ट के दूसरे फाउंडर व सीईओ बिन्नी बंसल ने भी इस्तीफा दे दिया और कंपनी से अलग हो गए।

Flipkart पर पहला ऑर्डर आने की कहानी भी कमाल की है बात अक्टूबर 2007 की है जब V V K Chandra एक बुक को खरीदने के लिए इधर उधर घूम रहे थे, मार्केट मे काफी कोशिश करने के बाद भी उन्हें वो बुक नहीं मिली, चंद्र इंटरनेट व टेक्नोलॉजी के बारे मे ब्लॉग लिखते थे, किस्मत से सचिन बंसल ने उनके ब्लॉग पर Flipkart की लिंक के साथ कमेंट किया। 

Chandra को लगा की ये बस अपनी वेबसाइट को प्रमोट कर रहा है फिर इसके बाद जब लिंक पर क्लिक किया तो सच मे उन्हें एक ऐसी वेबसाइट मिली जो पूरे भारत मे किताबे शिप करने का दावा कर रही थी, और किस्मत से जो बुक चंद्र को चाहिए थी वो स्टॉक में भी थी। 

वो समय तब का था जब भारत मे ऑनलाइन शॉपिंग ने केवल जन्म ही लिया था और Chandra ने इससे पहले इस तरह की वेबसाइट नहीं देखी थी इसलिए उस समय फ्लिपकार्ट पर विश्वास करना Chandra के लिए मुश्किल था लेकिन बुक की कीमत केवल 500 रुपए थी इसलिए चंद्रा ने रिस्क ले लिया और बुक का इंतजार किया। 

बड़ी मुस्किल से बिन्नी ने उस बुक को किसी बुक स्टोर मे खोजा और चंद्रा तक पहुंचाया इस तरह फ्लिपकार्ट ने अपने पहले कस्टमर के ऑर्डर को पूरा किया और उसे खुश भी रखा। 


Flipkart क्या है? 

Flipkart एक ई कॉमर्स प्लेटफॉर्म है जहा लोग ऑनलाइन विभिन्न तरह का समान घर बैठे खरीद सकते है, यहा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से लेकर कपड़े जूते व किराणे का सामान सब मिलता है, फ्लिपकार्ट एक मार्केटप्लेस भी है जिसका मतलब है की कोई भी व्यक्ति उस प्लेटफॉर्म पर रजिस्टर करके अपने प्रोडक्ट बेच सकता है। 


फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है? 

फ्लिपकार्ट भारत की सबसे बड़ी ई कॉमर्स कंपनी है जिसकी शुरुआत 2007 मे हुई थी, फ्लिपकार्ट को बनाने वाले सचिन बंसल व बिन्नी बंसल है लेकिन 2018 मे अमेरिकी रीटेल कंपनी Walmart ने 16 बिलियन अमेरिकी डॉलर मे इसे खरीद लिया था जिसके बाद अब Walmart ही Flipkart का मालिक है। 

वालमार्ट के फ्लिपकार्ट को खरीदने के बाद दोनों फाउन्डर ने कंपनी से अपना इस्तीफा दे दिया, सचिन व बिन्नी बंसल कंपनी मे CEO के पद पर काम करते थे। वालमार्ट अमेरिका की बहुत बड़ी मल्टीनैशनल कंपनी है, इसके अलावा अमेरीका मे ऐमज़ान को टक्कर देती है। 


फ्लिपकार्ट के संस्थापक (Founder) कौन है? 

Flipkart ई कॉमर्स कंपनी 2007 मे सचिन बंसल व बिन्नी बंसल द्वारा बनाई गई थी, सचिन बंसल व बिन्नी बंसल दोनों आईआईटी मे बैचमेट थे दोनों की मुलाकात तब हुई जब गर्मियों की छुट्टी मे सभी छात्र अपने घर चले गए थे पर बिन्नी व सचिन का प्रोजेक्ट पूरा ना होने की वजह से वे कॉलेज मे ही रुक गए।

फ्लिपकार्ट को शुरू करने से पहले दोनों ही Amazon के लिए काम कर चुके थे और अब कुछ अलग करना चाहते थे जिसके बाद मात्र 4 लाख रुपए मे 2007 मे फ्लिपकार्ट कंपनी की शुरुआत एक ऑनलाइन बुक स्टोर के माध्यम से की। 

सचिन बंसल व बिन्नी बसंल केवल बैचमेट थे, लास्ट नेम एक जैसा होने की वजह से बहुत से लोग इन्हे भाई समझते है पर असल मे ये केवल बिजनेस पार्टनर थे। 

2018 मे फ्लिपकार्ट को Walmart ने खरीद लिया था जिसके बाद सचिन व बिन्नी ने भी सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिया और कंपनी से अलग हो गए। 


Flipkart के सीईओ कौन है? 

वालमार्ट द्वारा फ्लिपकार्ट खरीदे जाने के बाद सचिन बंसल व बिन्नी बंसल ने सीईओ पद से इस्तीफा दे दिया और कंपनी से अलग हो गए जिसके बाद कल्याण कृष्णमूर्ति (Kalyan Krishnamurthy) को CEO का पद सौंपा गया। 

ये फ्लिपकार्ट मे काम करने से पहले eBay मे लंबे समय तक काम कर चुके है इसके अलावा टाइगर ग्रुप के Finace डायरेक्टर भी थे और फ्लिपकार्ट के सीईओ बनने के पहले से ही ये यहां काम कर रहे थे। 


सारांश 

इस ब्लॉग पोस्ट मे आपने Flipkart के बारे मे सभी महत्वपूर्ण बातों के बारे जाना जैसे की Flipkart कहा की कंपनी है इसके संस्थापक व मालिक कौन है आदि, उम्मीद है आपके सभी सवालों के जवाब इस ब्लॉग पोस्ट मे मिल गये होंगे, इसके अलावा आप अपने सवाल कमेंट बॉक्स के माध्यम से भी पूछ सकते है। 

आपके काम की अन्य पोस्ट:

मुझे इंटरनेट टेक्नोलॉजी के बारे में जानने और इसे लोगो के साथ शेयर करना अच्छा लगता है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हु। इसके अलावा मुझे अच्छी किताबें पढ़ने और लोगों को ऑब्ज़र्व करना भी अच्छा लगता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here