Vodafone Idea (VI) किस देश की कंपनी है मालिक कौन है

बिना सिम कार्ड के एक स्मार्टफोन उतना स्मार्ट नहीं रहता जितना वो सिम कार्ड के साथ होता है क्यू की एक स्मार्टफोन को स्मार्ट बनने के लिए इंटरनेट की जरूरत होती है और इंटरनेट को चलाने के लिए सिम कार्ड या वाईफाई की जरूरत पड़ती है। वोडाफ़ोन आइडिया यानि की VI एक टेलिकॉम कंपनी है। 

VI ke bare me

वोडाफ़ोन आइडिया भारत की तीसरे नंबर की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी है, हालांकि भारत मे ये दोनों कंपनीया अब मिल गई है और इनका नया नाम अब VI है, विलय से पहले ये दोनों कंपनीया अलग अलग थी और इनके सभी काम भी अलग अलग तरीके से होते थे। 

हालांकि वोडाफ़ोन एक ब्रिटिश मल्टीनैशनल कंपनी है जिसका मुख्यालय इंग्लैंड मे है, भारत मे ये स्वतंत्र रूप से काम करती है।

जिओ के आने के बाद सभी टेलिकॉम कंपनीयो की हालत खराब हो गई थी और कुछ कंपनीया तो बंद भी हो गई, अब भारत मे जिओ को मिलकर केवल 4 ही टेलिकॉम कंपनी एयरटेल, वोडाफ़ोन आइडिया व बीएसएनएल ही बची है। 

वोडाफ़ोन व आइडिया का विलय

वोडाफ़ोन एक ब्रिटिश कंपनी है और आइडिया एक भारतीय टेलिकॉम कंपनी है, जिओ के फ्री सिम कार्ड देने व 1 साल तक फ्री डाटा देने पर लोगों ने जिओ के अलावा अन्य सिम कार्ड को इस्तेमाल करना छोड़ दिया था जिसके कारण एयरटेल, वोडाफ़ोन व आइडिया कंपनी को भारी नुकसान हुआ। 

इसके अलावा AGR की समस्या अलग से आ गई जिसमे टेलिकॉम कंपनीयो को सरकार को करोड़ों रुपए चुकाने थे, ग्राहकों की संख्या दिन पर दिन और कम होती जा रही थी अब ऐसे मे कंपनी के पास केवल 2 ही रास्ते थे जिसमे पहला या तो वो अपनी सेवाए बंद कर दे या फिर किसी दूसरी कंपनी के साथ मिल जाए। 

वोडाफ़ोन इंडिया और आइडिया ने यही किया, ये दोनों कंपनीया 2018 मे मर्ज हो गई थी यानि की इनका एक दूसरे मे विलय हो गया था। हालांकि गहकों के लिए ये दोनों कंपनीया अभी भी अलग अलग थी क्यू की रिचार्ज से लेकर सपोर्ट तक सभी काम अलग अलग होते थे। 

2 सितंबर 2020 मे वोडाफ़ोन आइडिया कंपनी ने एक नया ब्रांड लोगों के सामने रखा जिसे VI नाम दिया गया इस ब्रांड के आ जाने से अब दोनों कंपनी के ग्राहकों को एक ही जगह सेवा दी जाने लगी और इनका सपोर्ट सिस्टम भी एक बन गया। आज के समय मे वोडाफ़ोन और आइडिया मे कोई अंतर नहीं है। 


Vodafone idea (VI) कहा की कंपनी है?

वोडाफ़ोन आइडिया लिमिटेड जिसे शॉर्ट मे VI भी बोला जाता है एक भारत की टेलिकॉम कंपनी है जिसका मुख्यालय मुंबई व गांधीनगर मे है, VI पूरे भारत मे अपनी सेवाए देती है, पूरे देश मे वीआइ के लगभग 120 मिलियन ग्राहक है। 

वोडाफ़ोन ग्रुप एक ब्रिटिश कंपनी है वही आइडिया एक भारतीय कंपनी है जो की आदित्य बिरला ग्रुप के अन्डर मे आती है। वोडाफ़ोन और आइडिया के मिल जाने के बाद नई कंपनी बनी जिसका नाम वोडाफोन आइडिया लिमिटेड रखा गया। 

वोडाफ़ोन आइडिया लिमिटेड कंपनी की स्थापना 31 अगस्त 2018 को हुई, हालांकि ये स्थापना दोनों कंपनीयो वोडाफ़ोन और आइडिया के मिलते के बाद जो नई कंपनी बनी उसके लिए है, पूरे वोडाफ़ोन ग्रुप की बात करे तो ये 22 देशों मे अपनी सेवा देता है और इसकी स्थापना 1991 मे हुई। 


Vodafone idea (VI) का मालिक कौन है? 

वोडाफ़ोन आइडिया कंपनी दो अन्य कंपनीयो वोडाफ़ोन व आइडीय के विलय से बनी है नई कंपनी का नाम वोडाफोन आइडिया लिमिटेड है इस कंपनी के मालिक की बात करे उससे पहले आपको कुछ बातों को समझना पड़ेगा, वोडाफ़ोन आइडिया लिमिटेड दो अन्य कंपनीयो के विलय से बनी है जिसमे एक कंपनी वोडाफोन ग्रुप की है और दूसरी कंपनी आदित्य बिरला ग्रुप की। 

इसके अलावा वोडाफ़ोन आइडिया लिमिटेड एक पब्लिक कंपनी भी है, इसका मतलब है की कोई भी व्यक्ति उस देश के स्टॉक मार्केट के जरिए एक निर्धारित तय सिमा तक उस कंपनी के शेयर खरीद सकता है। 

वोडाफ़ोन आइडिया लिमिटेड कंपनी के 45.1% शेयर वोडाफ़ोन ग्रुप व 26% शेयर आदित्य बिरला ग्रुप के पास है बाकी बचे हुए शेयर पब्लिक शेयर होल्डर के पास है जिन्होंने शेयर मार्केट की जरिए कंपनी के शेयर खरीदे हुए है। ये एक पब्लिक कंपनी है और एक पब्लिक कंपनी के शेयर जिसके पास होते है वही उसका मालिक होता है। 


वोडाफ़ोन आइडिया कंपनी के सीईओ व चेयरमैन कोन है? 

वोडाफ़ोन आइडिया कंपनी के सीईओ रवींद्र टक्कर है व चेयरमैन कुमार मंगलम बिरला है, ये आदित्य बिरला ग्रुप के भी चेयरमैन है, कुमार मंगलम बिरला आदित्य विक्रम बिरला के बेटे है। 

आपके काम की अन्य पोस्ट:

मुझे इंटरनेट टेक्नोलॉजी के बारे में जानने और इसे लोगो के साथ शेयर करना अच्छा लगता है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हु। इसके अलावा मुझे अच्छी किताबें पढ़ने और लोगों को ऑब्ज़र्व करना भी अच्छा लगता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here