Amazon का मालिक कौन है ये कहा की कंपनी है

बदलते हुए इस टेक्नॉलजी के दोर मे लोगों की आदते भी बहुत तेजी से बदल रही है आजकल लोग अपना ज़्यादाकर खाली समय स्मार्टफोन पर ही बिताते है। लोगों का खरीदारी करने का तरीका भी काफी तेजी से बदल रहा है आज की नई पीढ़ी ऑनलाइन खरीदारी करने मे ज्यादा दिलचस्पी दिखाती है। 

Amazon Ke Bare Me

जब ऑनलाइन शॉपिंग की बात आती है तो Amazon सबसे पहले दिमाग मे आता है, Amazon ऑनलाइन शॉपिंग के अलावा भी कई तरह की अन्य सर्विस उपलब्ध करवाती है। इस ब्लॉग पोस्ट मे आप Amazon क्या है इसका मालिक व सीईओ कौन है और ये किस देश की कंपनी है इसके बारे मे जानोगे। 

Amazon भारत मे ही नहीं बल्कि कई अन्य देशों जैसे की अमेरिका, जर्मनी, इटली, UK, ब्राजील आदि देशों मे भी अपनी सेवाएँ देती है, भारत मे Amazon सबसे ज्यादा भरोसेमंद ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट है, हालांकि Flipkart भी Amazon को कड़ी टक्कर देती है। 

Amazon क्या है? 

Amazon एक ऑनलाइन मार्केटप्लेस है जहां प्रोडक्ट ऑनलाइन खरीदे जा सकते है, यहा ऑर्डर करने के लिए स्मार्टफोन व इंटरनेट की जरूरत होती है इसके अलावा पूरे भारत मे कही से भी ऑनलाइन ऑर्डर किया जा सकता है। Amazon शॉपिंग के अलावा भी अन्य कई तरह की सेवाएँ उपलब्ध कराती है जैसे की मूवी देखने के लिए Amazon प्राइम, म्यूजिक, अमेज़न वेब सर्विसेज़, फायर टीवी, किन्डल आदि। 

Amazon एक मार्केटप्लेस है जिसका मतलब है की कोई भी व्यक्ति Amazon के साथ पार्टनरशिप करके खुद के प्रोडक्ट अमेज़न प्लेटफॉर्म पर बेच सकता है जिसके बाद हर एक प्रोडक्ट की सेल पर कंपनी आपसे कमीशन लेती है। 


Amazon का मालिक कौन है? 

जेफ बेजोस
जेफ़ बेजोस

Amazon का नाम दुनिया की टॉप 5 टेक्नॉलजी कंपनीयो मे लिया जाता है, Amazon के संस्थापक जेफ़ बेजोस है जिन्होंने 5 जुलाई 1994 मे Amazon की स्थापना की थी, जेफ़ बेजोस दुनिया के दूसरे सबसे अमीर आदमी है जिनकी कुल संपती जनवरी 2021 मे 181.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर है। 

जेफ़ बेजोस Amazon शुरू करने से पहले एक टेक्नॉलजी डेवेलपमेंट व इनवेस्टमेंट कंपनी मे वाइस प्रेसीडेंट के रूप मे काम कर रहे थे उसी दोरान उन्होंने ऑनलाइन कही पढ़ा की इंटरनेट हर साल 2300% की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है इसके बाद इन्होंने रिसर्च करना शुरू किया। 

कुछ रिसर्च के बाद इन्हे ऑनलाइन किताबें बेचने का आइडिया आया इसके बाद उन्होंने वो जॉब छोड़ दी और Seattle आ गए जहां उन्होंने अपनी कंपनी पर काम किया, Amazon का पुराना नाम Cadabra था जिसे बाद मे बदला गया था, ये नाम साउथ अमेरिका की सबसे बड़ी नदी Amazon से लिया गया था। 

15 मई 1997 मे Amazon कंपनी प्राइवेट से पब्लिक हो गई मतलब की अब आम लोग भी स्टॉक मार्केट के जरिए कंपनी के स्टॉक खरीद सकते है और कंपनी मे हिस्सेदार बन सकते है, किसी कंपनी के पब्लिक हो जाने के बाद उस कंपनी के मालिक वो सभी लोग होते है जिनके पास कंपनी के शेयर है। 


Amazon कहा की कंपनी है?

Amazon अमेरिका की एक बहुराष्ट्रीय टेक्नॉलजी कंपनी है जिसका मुख्यालय सियाटल वाशिंगटन अमेरिका मे स्थित है, अमेज़ोंन को ज़्यादाकर लोग ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट के रूप मे जानते है पर शॉपिंग के अलावा ये क्लाउड कंप्यूटिंग, डिजिटल स्ट्रीमिंग, मूवी, AI आदि के क्षेत्र मे भी काफी अच्छी सेवाएँ उपलब्ध करवाती है। 

Amazon दुनिया की टॉप 5 टेक्नॉलजी कंपनीयो मे से एक है इसके अलावा इसे वर्ल्ड का सबसे वैल्यूऐबल ब्रांड माना गया है, Amazon की शुरुआत अमेरिका से हुई है पर आज कंपनी भारत के साथ साथ ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील कनाडा, फ़्रांस, इटली, जापान, मेक्सिको आदि देशों मे अपनी सेवाएँ दे रही है। 

Amazon एक मार्केटप्लेस है और कोई भी व्यक्ति यहा इसके साथ पार्टनरशिप करके अपने प्रोडक्ट बेेच सकता है प्रोडक्ट सेल होता है तो Amazon उसमे कुछ कमीशन लेती है।


Amazon का सीईओ कौन है?  

Amazon के CEO व अविष्कारक जेफ़ बेजोस है, ये कंपनी की शुरुआत से ही सीईओ का पद संभाले हुए है, सीईओ होने के साथ साथ ये Amazon कंपनी के प्रेसीडेंट भी है। जेफ़ बेजोस ने अमेरिका के लोकप्रिय अखबार वाशिंगटन पोस्ट को 2013 मे खरीद लिया था। 


Amazon पर शॉपिंग कैसे करे? 

भारत मे लाखों लोग Amazon से ऑनलाइन शॉपिंग कर रहे है और ये आंकड़ा दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है, हालांकि अभी भी बहुत से लोग ऑनलाइन शॉपिंग के नाम से डरते है उनके मन मे बहुत सारे सवाल होते है जैसे की प्रोडक्ट घर पर नहीं आया तो क्या होगा, यदि खराब समान आ जाता है तो क्या करे आदि। 

Amazon पर कुछ भी खरीदने से पहले उस प्रोडक्ट के बारे मे अच्छे से जानकारी ले, ज़्यादाकर प्रोडक्ट पर आपको कैश ऑन डिलीवरी यानि की जब घर पर सामान आए तो पैसे देने का ऑप्शन मिलता है लेकिन कुछ प्रोडक्ट ऐसे भी होते है जिन पर ये ऑप्शन नहीं मिलता और आपको ऑनलाइन ही पेमेंट करना होता है। 

जब प्रोडक्ट घर आए तो उसे खोलते समय उसकी विडिओ बना ले जिससे यदि आपका प्रोडक्ट खराब आता है तो आपके पास प्रूफ रहेगा और आप उसे चेंज करवा सकते है या अपने पैसे वापस ले सकते है।


सारांश

जेफ़ बेजोस Amazon के फाउन्डर है और इन्ही की निगरानी मे कंपनी आगे बढ़ रही है, इस ब्लॉग पोस्ट मे आपने Amazon के बारे मे कई तरह की चीजों के बारे मे जाना उम्मीद है आपको सभी बाते आसानी से समझ आई, आप अपने सवाल कमेन्ट बॉक्स के माध्यम से पुछ सकते है। 

आपके काम की अन्य पोस्ट:-

मुझे इंटरनेट टेक्नोलॉजी के बारे में जानने और इसे लोगो के साथ शेयर करना अच्छा लगता है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हु। इसके अलावा मुझे अच्छी किताबें पढ़ने और लोगों को ऑब्ज़र्व करना भी अच्छा लगता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here