NFC क्या है, Full Form क्या होती है कैसे काम करता है (2021)

यदि आप टेक्नोलॉजी के विषय में रुचि रखते हैं तब शायद आप NFC के बारे में जानते होंगे, और यदि नहीं तब आप बिल्कुल सही ब्लॉग पोस्ट पर आए है क्योंकि इस पोस्ट पर हम आप सभी को NFC क्या है? NFC कैसे काम करता है? और NFC का Full Form क्या है? के बारे में विस्तार में बताएंगे। 

NFC क्या है

NFC एक आधुनिक टेक्नोलॉजी है, अगर हम आसान भाषा में NFC Kya Hai को परिभाषित करें तो यह एक तरह का ऐसा सिस्टम है जिसके द्वारा दो डिवाइस को एक साथ टच करा कर एक दूसरे डिवाइस से Data का आदान प्रदान किया जाता है। यदि आप NFC के बारे में सभी जरूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े। 

NFC क्या है? – What Is NFC In Hindi 

NFC का फुल फॉर्म Near Field Communication है, जिसे हिंदी में नजदीक फील्ड संचार कहां जाता है। NFC एक आधुनिकीकरण टेक्नोलॉजी है, जिसके माध्यम से दोनों डिवाइस को पास में करके बिना किसी Wire कनेक्शन के एक दूसरे डिवाइस के साथ आप कनेक्शन तैयार करके एक दूसरे डिवाइस के साथ डाटा का आदान प्रदान कर सकते हैं, वह भी बिना दो डिवाइस को Pair या Configure किए। 

ज्यादातर Mobile के बैटरी में या फिर बैक कवर में NFC का चिप लगा हुआ होता है, जिसे कि आप मोबाइल के सेटिंग में जाकर Enable कर सकते हैं। NFC का इस्तेमाल वर्तमान समय में केवल एक दूसरे डिवाइस के साथ डाटा का लेनदेन करने के लिए ही नहीं, बल्कि Debit, Credit कार्ड से Direct Payment करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है, परंतु भारत में इसकी लिमिट केबल ₹2000 हैं। 

NFC सिस्टम में इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडियो फील्ड का उपयोग किया जाता है, जिस वजह से आपको दो डिवाइस के बीच कनेक्शन तैयार करने के लिए एक दूसरे डिवाइस को एक दूसरे के पास में टच करके रखना पड़ता है, जिसका फ्रीक्वेंसी रेंज 3 से 4 सेंटीमीटर का ही होता है, इस NFC कनेक्शन का रेंज इतना कम होता है, कि यदि आप दो डिवाइस को थोड़ा भी दूर ले जाते हैं, तो कनेक्शन नहीं बन पाता। 

NFC को इस्तेमाल करके लोग आज एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में डाटा Share या फिर Received करते है, सिर्फ यह ही नहीं बल्कि हमें आज के समय में NFC Tags भी देखने को मिल जाते हैं, NFC Tags में बहुत ही कम स्टोरेज होता है, जिसमें हम हमारे जरूरी डेटा या फाइल को सेव करके रख सकते हैं, और बाद में जरूरत पड़ने पर हम उन डाटा को NFC के द्वारा प्राप्त भी कर सकते हैं। 

NFC कुछ हद तक मोबाइल के Bluetooth जैसा है परंतु NFC और Bluetooth में कई अंतर है, जैसे Bluetooth से डाटा का आदान प्रदान करने से पहले आपको दोनों डिवाइस को एक साथ Pair करना होता है, पर वही NFC के माध्यम से कोई डेटा का लेनदेन करने के लिए हमें कोई भी डिवाइस को Pair करना नहीं होता है। NFC 106 kbps से लेकर 424 kbps तक का स्पीड प्रदान करता है।  


NFC के प्रकार – Types Of NFC In Hindi

NFC क्या है? NFC कैसे काम करता है? यह तो आप जान ही गए होंगे अब हम अगर NFC के प्रकार के विषय में बताएं तो NFC मुख्य तौर पर दो तरह के होते हैं तथा – 

  1. Active NFC Devices – जो डिवाइस दूसरे डिवाइस में Data को Share या फिर Receive दोनों ही कर पाता है, उसे ही साधारण भाषा Active NFC Device कहा जाता है। यह डिवाइस एक दूसरे डिवाइस के साथ आसानी से Communicate भी कर पाता है। मोबाइल भी Active NFC Device का उदाहरण है। 
  2. Passive NFC Device – जो डिवाइस खुद कोई Data प्राप्त नहीं कर सकता केवल दूसरे डिवाइस को ही Data भेज सकता है, उसे ही Passive NFC Device कहां जाता है। यह डिवाइस बिना पावर सप्लाई किए ही इनफार्मेशन को प्रोसेस कर सकता है। Passive NFC Device का इस्तेमाल NFC Tags मैं होता है। 

NFC काम कैसे करता है – How Does NFC Works

NFC साधारण तौर पर इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडियो फील्ड के आधार पर कार्य करता है। जब हम हमारे मोबाइल पर सेटिंग में जाकर NFC मोड को On करते है, तब हमारे मोबाइल पर एक रेडियो फील्ड तैयार होता है, जो कि केवल 3 से 4 Cm के आस पास तक के रेंज में ही रेडियो फील्ड तैयार करता है, और उस फील्ड के अंदर जब कोई और NFC Activated मोबाइल आता है, तब दोनों डिवाइस के अंदर एक रेडियो चुंबकीय कनेक्शन तैयार होता है, फिर दो डिवाइस आपस में एक दूसरे के साथ कनेक्ट हो जाता है, अब आप दो डिवाइस के अंदर डाटा का आदान प्रदान कर सकते हैं।

NFC Kaam kaise karta hai

NFC केवल एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल में डाटा का आदान प्रदान करने के लिए ही, इस्तेमाल नहीं होता बल्कि आप चाहे तो NFC का इस्तेमाल आप Debit Card या फिर Credit Card से पेमेंट करने वक्त भी कर सकते है, इसके लिए आपको आपके Debit Card या Credit Card पर NFC को Activate करना होगा, उसके बाद आप अपने Debit या Credit Card को स्वाइप मशीन के पास ले जाकर बिना PIN डाले पेमेंट कर पाएंगे, कोई चाहे तो स्वाइप मशीन को कार्ड के पास लॉकर पेमेंट भी करवा सकता है इसलिए NFC के द्वारा पेमेंट करने की सीमा भारत में केवल ₹2000 है।


NFC के Modes 

NFC पर मुख्य रूप में 3 Modes का प्रयोग होता है, हर एक NFC Modes का अलग-अलग कार्य होता है, और 3 मोड्स है Peer to Peer, Read & Write और Card Emulation। 

  • Peer to Peer – जब दो डिवाइस एक्टिव होते हैं, केवल तभी Peer to Peer मोड का प्रयोग होता है एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में डाटा को शेयर करने के लिए। 
  • Read & Write – यह एक ऐसा Mode है जिसके द्वारा आप केबल, इंफॉर्मेशन को Read और Write कर सकते है, जैसे कि NFC Tags।
  • Card Emulation – कार्ड एमुलेशन में NFC एक स्मार्ट कार्ड के रूप में होता है जैसे कि आपका डेबिट या क्रेडिट कार्ड, जिसके द्वारा हम Contactless पेमेंट कर पाते हैं। 

NFC का उपयोग कैसे करें

ज्यादातर महंगे मोबाइल पर ही हमें NFC का पिक्चर देखने को मिलता है, यदि आपके मोबाइल में NFC का सपोर्ट है तब आप बेहद ही आसानी से, अपने फोन पर NFC का उपयोग कर सकते हैं, और यदि नहीं जानते कि कैसे NFC का उपयोग करें तब आप नीचे मुख्य बिंदु को फॉलो कर सकते है – 

  • NFC का उपयोग एंड्राइड मोबाइल पर करने के लिए आपको सर्वप्रथम मोबाइल के सेटिंग ऑप्शन को ओपन कर लेना होगा। 
  • मोबाइल के सेटिंग ऑप्शन को ओपन कर लेने के बाद आपको NFC के ऑप्शन में जाना होगा, फिर More पर क्लिक करके NFC को एनेबल कर लेना होगा। 
  • NFC को एनेबल कर लेने के बाद आप जिस डाटा को दूसरे डिवाइस में शेयर करना चाहते हैं उस डाटा को आप को सलेक्ट कर लेना होगा।
  • डाटा को सेलेक्ट करने के बाद आपको आपके डिवाइस को दूसरे NFC एनाबेले डिवाइस के पास ले जाना होगा फिर दोनों डिवाइस के अंदर कनेक्शन तैयार हो जाएगा। 
  • दोनों डिवाइस के अंदर कनेक्शन तैयार हो जाने के बाद आप जिस भी डिवाइस से डाटा को शेयर करना चाहते है उस डिवाइस पर आपको Tap To Beam का ऑप्शन देखने को मिलेगा वहां पर आपको क्लिक कर देना होगा। 
  • Tap To Beam के ऑप्शन पर क्लिक कर देने के बाद आपका डाटा कुछ ही समय के अंदर दूसरे डिवाइस में शेयर हो जाएगा और शेयर हो जाने के बाद आपको आपके मोबाइल पर नोटिफिकेशन भी प्राप्त हो जाएगा।

NFC के फायदे – Advantages Of NFC

  • NFC के माध्यम से Data को ट्रांसफर करने के लिए हमें कोई भी Wire का जरूरत नहीं पड़ता है, हम इसके रेडियो फील्ड के द्वारा ही डाटा को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में Transfer या Receive कर सकते हैं।
  • आप चाहे तो कोई जरूरी डेटा को NFC Tag में Save करके रख सकते हैं, और बाद में अपने जरूरत के अनुसार उस डाटा को NFC के द्वारा प्राप्त कर सकते है। 
  • NFC के द्वारा Debit Card या फिर Credit Card का इस्तेमाल करने के कारण हमें Payment करते वक्त कोई PIN डालने का जरूरत नहीं पड़ता, केवल Swipe Machine में कार्ड को Touch करना होता है, उसके बाद डायरेक्ट Payment हो जाते हैं। 
  • Bluetooth का प्रयोग करके जब हम डेटा को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में शेयर करते हैं, तब हमें दोनों डिवाइस को एक साथ Pair करना पड़ता है, परंतु NFC के द्वारा एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में डाटा को शेयर या रिसीव करने के लिए, हमें डिवाइस को Pair करना नहीं पड़ता, यह खुद ब खुद दोनों डिवाइस में एक्टिवेट हो जाता है। 

NFC के नुकसान – Disadvantages Of NFC

  • NFC एक बहुत ही अच्छा टेक्नोलॉजी है परंतु यह केवल महंगे मोबाइल पर ही उपलब्ध है हमें हर मोबाइल पर यह सुविधा देखने को नहीं मिलता। 
  • यदि आपके फोन पर NFC एनेबल है, तब कोई दूसरा NFC Activated फोन बिना परमिशन के आपके डिवाइस से Data को चुरा सकता है। 
  • NFC सर्विस बहुत ही महंगा है इस वजह से सभी कंपनियां इस टेक्नोलॉजी को इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं। 
  • यदि आपके डेबिट या क्रेडिट कार्ड में NFC एनेबल है तो कोई व्यक्ति जानबूझकर स्वाइप मशीन को कार्ड के पास ले आकर आपके अकाउंट से  पेमेंट कर सकता है, और इसी कारण भारत में NFC के द्वारा पेमेंट करने की सीमा केवल ₹2000 हैं। 

Jio Phone मे NFC क्या है

Jio Phone Me NFC

Samsung Pay और Apple Pay में जैसे आप सभी को NFC का फीचर देखने को मिलता है, ठीक उसी तरह Jio Phone में भी हमें NFC का सपोर्ट देखने को मिलता है। Jio Phone के Back Cover के पीछे NFC का चिप लगा हुआ रहता है, जिसके जरिए आप Jio Phone के सेटिंग में जाकर NFC को Activate करके, अपने Debit या फिर Credit Card को Jio Phone के साथ लिंक करके NFC के द्वारा कॉन्टैक्टलेस पेमेंट कर सकते हैं। 


सारांश

आज के इस आर्टिकल पर हमने NFC के बारे में विस्तार में बताया है, उम्मीद करते हैं कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको पता चल गया होगा, कि NFC क्या है? NFC कैसे काम करता है? और NFC का फुल फॉर्म क्या है। 

यदि आपके मन में NFC से संबंधित कोई भी प्रश्न है, तब आप हमें नीचे कमेंट करके बता सकते हैं, और अगर आपको लगे कि आज का यह पोस्ट आप सभी के लिए उपयोगी है, तब आप हमारे ब्लॉग के और अन्य पोस्ट को पढ़ सकते हैं। 

आपके काम के अन्य ब्लॉग पोस्ट:-

लॉजिकलदोस्त टीम, LogicalDost प्लेटफॉर्म पर कुछ लोगों का समूह है ये समूह अलग अलग विषयों पर अच्छे ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से लोगों को इंटरनेट व टेक्नोलॉजी के बारे मे जानकारी देता है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here