Graphic Card क्या होता है, ये कितने प्रकार का होता है क्या काम आता है

आज ईस आर्टिकल में आप जानेंगे की Graphic Card क्या होता है, यह कितने प्रकार का होता है क्या काम आता है और ग्राफिक कार्ड के क्या-क्या Features होते है? ग्राफिक कार्ड कौनसी कंपनी बनाती है  इसके साथ में आप यह भी जानेंगे की Discrete vs Integrated graphics कार्ड क्या होता है?  तथा आपके Laptop या कंप्यूटर में कौन सा Graphic Card है कैसे चेक करें? तो चलिए शुरू करते हैं।

Graphic Card kya hota hai

ग्राफिक्स कार्ड Laptop का एक अहम हिस्सा होता है। ग्राफिक कार्ड के बिना या फिर ग्राफिक्स प्रोसेसिंग यूनिट जिसे हम GPU कहते हैं, Laptop या फिर कंप्यूटर स्क्रीन में कुछ भी जैसे: इमेज या वीडियोस को देख पाना संभव नहीं है। Laptop या फिर कंप्यूटर के डिस्प्ले में ग्राफिक्स को दिखाना GPU का काम होता है तो यह सरल सी बात है कि बिना GPU  के हमारा Laptop का डिस्पले या फिर टीवी और मॉनिटर का डिस्पले किसी भी प्रकार का विजुअल को नहीं दिखा सकता है। 

GPU शब्द का प्रयोग कम से कम 1980 के दशक से किया जा रहा है। लेकिन 1999 में NVIDIA कंपनी के दुवारा एक Graphic Card या GPU बनाया गया था। जिसका नाम GeForce 256 था। यह उस समय काफी पॉपुलर था। उसके बाद से NVIDIA ने कंप्यूटर Graphic Card के क्षेत्र में सराहनीय योगदान दियाहै। ध्यान दीजिए अभी तक मैं GPU और Graphic Card को एक जैसा ही बता रहा हूँ, लेकिन इनके बिच में थोड़ा अंतर है, जो आपको आगे पढ़ने को मिलेगा। तो चलिए अब हम सबसे पहले समझते हैं कि ग्राफिक्स कार्ड क्या होता है और यह हमारे किस काम आता है?

ग्राफिक कार्ड क्या होता है

Graphics Card या GPU एक हार्डवेर डिवाइस होता है, जो Laptop और कंप्यूटर के डिस्पले (Monitor) के लिए Videos को जेनेरेट करता है। यानि सरल भाषा में यह किसी भी प्रकार के डिस्प्ले या मॉनिटर को ग्राफ़िक्स जेनेरेट करके देता है। ग्राफ़िक्स का मतलब इमेज, वीडियो आदि होता है जो इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल के फॉर्म में होता है। बाद में कंप्यूटर का डिसप्ले या मॉनिटर, इस इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल को रिसीव कर उसे समझने योग्य इमेज और वीडियो में कन्वर्ट करता है। 

उदाहरण के लिए  नीचे दिए गए Laptop में NVIDIA कंपनी की तरफ से पावरफुल ग्राफिक्स कार्ड लगा हुआ है। 

  • Acer predator
  • Nvidia GTX 1050 4GB Graphics Card.
  • Alienware 17
  • Nvidia Geforce GTX 1070 8GB Graphics Card.

जो काम GPU (Graphics Processing Unit) करता है, वहीं काम Graphics Card भी करता है। लेकिन दोनों में कुछ अंतर है। Graphics Card एक Expansion Card होता है, जो वीडियो और इमेज को, बहुत जल्दी और बेहतर से बेहतर बनाने के लिए कंप्यूटर को अलग से डेडिकेट (समर्पित) किया जाता है। इसलिए Graphics Card को डेडिकेटेड Graphic Card भी बोलते है। 

Graphic Card को एक से अधिक नामों से जाना जाता है। जैसे: Expansion Card, Dedicated Card, Video card, Display card, Graphics adapter, Video adapter इत्यादि। तो इतने सारे नाम में आप कंफ्यूज मत कीजियेगा, ये सभी नाम कंप्यूटर मदर बोर्ड में अलग से Graphic Card लगाने के लिए इश्तेमाल होता है। आइये अब समझते है की GPU क्या होता है। 

GPU का पूरा नाम Graphics Processing Unit होता है। यह कंप्यूटर या फिर Laptop के मदर बोर्ड में इनबिल्ट या अटैच मिलता है, जो अकेला ही ग्राफ़िक्स से सम्बंधित सभी कार्य करता है। आपने CPU के बारे में अवश्य सुना होगा, जैसे CPU कंप्यूटर के सभी गणितीय गणना को पूरा करने के काम आता है, उसी प्रकार GPU ग्राफ़िक्स से सम्बंधित सभी कार्य को पूरा करने के काम आता है। ध्यान दीजिए मै फिर बता रहा हूँ, ग्राफ़िक्स का मतलब कंप्यूटर या Laptop के डिस्प्ले में दिखाया जाने वाला इमेज और वीडियो है। 


Graphic कार्ड क्या काम आता है

Graphics Card कंप्यूटर में एक्स्ट्रा Graphics Processing Power बढ़ाने के लिए इश्तेमाल किया जाता है। जितना अधिक प्रोसेसिंग पावर होता है, उतना ही अच्छे से इमेज और वीडियो की प्रोसेसिंग यानि (Decoding या Encoding) होती है। जिसके कारण हमें बेहतर से बेहतर और बहुत खूबसूरत फोटोज और वीडियो डिस्प्ले में नजर आते है। हालाँकि फोटो और वीडियो को खूबसूरत दिखने के लिए सिर्फ Graphics Card ही अकेला जिम्मेदार नहीं है, बल्कि Graphics Card के साथ-साथ Display या Monitor भी अच्छा होना चाहिए। इसलिए आप अक्सर UHD, HD+, 4K और 8K इत्यादि डिस्प्ले बारे में सुनते है। 

सरल भाषा में अच्छा विज़ुअल (फोटो और वीडियो) को देखने के लिए अच्छा मॉनिटर या डिस्प्ले और पावरफुल ग्राफ़िक्स प्रोसेसिंग यूनिट होना जरूरी है। यदि आप एक गेम डेवलपर, Animator, Video Editor या Photo Rendere/Editor इनमे से कोई एक है, तो आपको एक अच्छा Dedicated Graphic Card लेने की जरूरत है। ताकि Game, या Video रेंडरिंग एकदम हाई क्वालिटी और बहुत जल्दी यानि कम समय में पूरा हो सके। 

कुलमिलाकर Graphic कार्ड हमें अच्छे क्वालिटी में इमेज और वीडियो को उत्पन करता है। यह हमारे समय की बचत करता है तथा कंप्यूटर का ओवरआल परफॉरमेंस को बढ़ाता है। जिससे हमरा कम्प्यूटर या फिर Laptop तेज गति से कार्य करता है। 


Graphic कार्ड काम कैसे करता है?

अगर आपने मेरा पुराना आर्टिकल कंप्यूटर कैसे काम करता है और एक दूसरा आर्टिकल प्रोसेसर कैसे काम करता है पढ़ा होगा तो उसमे मैंने बताया था, की प्रोसेसर, कंप्यूटर का एक अहम् हिस्सा है, सभी गणितीय गणना प्रोसेसर ही पूरा करता है इसलिए प्रोसेसर को कंप्यूटर का दिमाग भी कहते है। तो यँहा से एक बात यह समझ में आता है, की कंप्यूटर अपने सभी कार्य गणितीय गणना पूरा करके करता है। सभी कार्य जैसे: कंप्यूटर के पेरीफेरल डिवाइस को चलाना हो, किसी गणितीय समीकरण को हल करना हो, किसी सॉफ्टवेयर को ओपन या क्लोज करना हो, या फिर किसी भी इनपुट और आउटपुट सिग्नल को प्रोसेस कर, और उसे कण्ट्रोल करना है, सभी काम गणितीय गणना से पूरा होता है। 

आखिर गणितीय गणना ही क्यों? क्यूंकि हमारा कंप्यूटर लॉजिक गेट्स पर आधारित है, और लॉजिक्स गेट्स केवल बाइनरी भाषा (Binary Code) को समझते है। बाइनरी भाषा केवल 1 और 0 से मिलकर बना होता है, जिसे हम सोर्स कोड या बाइनरी कोड कहते है।  बाद में इन्ही बाइनरी भाषा को Number System (नंबर सिस्टम) में बदला जाता है, जैसे: Octal, Decimal, Hexadecimal इत्यादि और फिर इनके इश्तेमाल से मनुष्य के समझने योग्य भाषा का निर्माण किया जाता है। जिसके फलस्वरूप अनेकों सॉफ्टवेयर को डेवेलोप किया जाता है। तो ये सभी काम एक प्रोसेसर या माइक्रो कंट्रोलर के बिना संभव नहीं हो सकता है। 

इसलिए अलग-अलग और बेहतर से बेहतर प्रोसेसर का बनाया जाता है और उसका इश्तेमाल किया जाता है। जितना अधिक पावर फूल प्रोसेसर होता है, उतना ही तेज गति से गणितीय गणना संभव हो पाता है, जिसके परिणाम से हम अधिक तेज गति से काम कर सकते है। हालाँकि तेज गति से काम करने के लिए प्रोसेसर को भी अच्छी RAM, और अच्छे Storage का जरूरत पड़ता है। सिर्फ अकेला प्रोसेसर कंप्यूटर को अधिक तेज गति से नहीं चला सकता है। इसलिए हमें अच्छे प्रोसेससर के साथ अच्छे RAM और स्टोरेज डिवाइस जैसे: SSD (Solid State Drive) का इश्तेमाल करना पड़ता है। 

कंप्यूटर या Laptop के मदर बोर्ड में किसी खाश जगह पर खाश प्रोसेसर लगा होता है, जिसे प्रोसेसिंग यूनिट कहते है। यह प्रोसेसिंग यूनिट सिर्फ और सिर्फ, कंप्यूटर में सभी प्रोसेसिंग कार्य को पूरा करता है। इसलिए मदर बोर्ड में अलग-अलग प्रोसेसिंग से सम्बंधित कार्य को पूरा करने के लिए अलग-अलग प्रोसेसिंग यूनिट को लगाना पड़ता है। चूँकि यह प्रक्रिया काफी जटिल है और इसमें काफी खर्च आते है। इसलिए अधिकतम Laptop में केवल एक ही प्रोसेसिंग यूनिट लगा होता है। हालाँकि इसको अपग्रेड करने का ऑप्शन दिया जाता है और Graphic Card, Sound Card इत्यादि  इसका सबसे अच्छा उदाहरण है। 

तो अब आप समझ गए होंगे की Graphics Processing Unit या Graphic Card का मुख्य कार्य क्या है और यह काम कैसे करता है। Graphics Processing Unit चूँकि मदर बोर्ड में अटैच या इनबिल्ट रहता है, और यह इमेज और वीडियो से संबधित सभी कार्य को करने के लिए Motherboard में पहले से दिया गया RAM का इश्तेमाल करता है जिसे GPU Shared Memory भी कहते है। 

जबकि Graphic Card आपके कंप्यूटर में एक्स्ट्रा ग्राफ़िक्स प्रोसेसिंग पावर को बढ़ाने के लिए अलग से डेडिकेट किया जाता है। इसके अपने खुद के RAM, और प्रोसेसर होते है, जिसकी मेमोरी कैपेसिटी 2 Gb, 4Gb, 6Gb इत्यादि होता है। उदाहरण के लिए आप टास्क बार को खोलकर Performance के अंदर GPU मेमोरी को देख सकते है। अगर आपके पास इंटेल का प्रोसेसर है, तो उसमे कॉमन रूप से बाय डिफ़ॉल्ट Intel HD 620 GPU होता है। अगर Intel के अलावा अन्य नाम दिखाई देता है, तो वह या तो दूसरे कंपनी का है या फिर डेडिकेटेड Graphic Card लगा है। आपके Laptop या कंप्यूटर में कौन सा Graphic Card है? आप निचे पढ़कर जान सकते है। 

एक ही प्रोसेसर और लिमिटेड RAM में सभी कार्य, यानी गणितीय गणना, न करना पड़े इसलिए, हमें अलग से मदर बोर्ड में डेडिकेटेड Graphic Card लगाना पड़ता है, जिससे हमारा मुख्य (Main) CPU फ्री रहता है, और कंप्यूटर के सभी दूसरे टास्क को आसानी से और तेज गति से पूरा करता है। और ग्राफ़िक्स से सम्बंधित सभी गणितीय गणना Graphic Card को करना पड़ता है। ऊपर से लेकर अब तक इतना डिटेल में एक्सप्लेनेशन सिर्फ आपको बेसिक कॉन्सेप्ट समझाने के लिए किया। उम्मीद है की अब आप अच्छे से समझ गए होंगे, तो निचे जरूर कमेंट कीजिए ताकि मुझे भी मालूम चले। 


कंप्यूटर या Laptop स्क्रीन में विजुअल, Graphic Card उत्पन करता है या फिर डिस्प्ले?

क्या आपके भी मन में यह प्रश्न उठता है कि कंप्यूटर जैसा Laptop स्क्रीन में विजुअल यानि इमेज और वीडियोस ग्राफिक्स कार्ड उत्पन्न करता है या फिर डिस्प्ले या कंप्यूटर का मॉनिटर उत्पन्न करता है।  तो आइए अब मैं आपको इस सवाल का जवाब बिल्कुल आसान भाषा में देता हूँ। 

यदि मैं एक आसान भाषा में ऊपर दिए गए प्रश्न का उत्तर देने की कोशिश करूँ तो वह है कि कंप्यूटर या Laptop स्क्रीन में विजुअल, ना हीं ग्राफिक्स कार्ड दिखाता है और ना ही कंप्यूटर और लैपटॉप का मॉनिटर दिखाता है। बल्कि Graphic Card और कंप्यूटर का मॉनिटर दोनों एक साथ मिलकर किसी भी प्रकार का विजुअल दिखाने का कार्य करते हैं। और ये दोनों एक दूसरे से आपस में सम्बंध बनाये रखे है।

 

graphics card ke liye computer monitor

ग्राफिक्स कार्ड या फिर ग्राफिक्स प्रोसेसिंग यूनिट कंप्यूटर में एक हार्डवेयर डिवाइस होता है, जो मदर बोर्ड में बाहर से अटैच रहता है।  यह सिर्फ किसी भी प्रकार का ग्राफिकल विजुअल्स को इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल के फॉर्म में जनरेट यानी उत्पन्न करने का काम करता है। जबकि कंप्यूटर का मॉनिटर इस इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल को रिसीव करके उसे समझने योग्य विजुअल्स में कन्वर्ट करता है।  किसी डिस्प्ले या मॉनिटर में हजारों और लाखों की संख्या में Pixeles रहते हैं ये सभी Pixeles किसी भी प्रकार का इमेज को एकदम साफ़-साफ़ दिखाने का कार्य करते है। एक पिक्सल्स में तीन कलर मौजूद रहते हैं जिसे आरजीबी पिक्सेल या कलर कहते हैं। जिस मॉनिटर में जितना अधिक पिक्सेल की मात्रा होता है, उसका फोटो या वीडियो दिखाने का क्वालिटी उतना ही अच्छा होता है। 

ग्राफिक्स कार्ड ठीक वैसे ही आपकी मदर बोर्ड में अटैच या इनस्टॉल किया जाता है जैसे कि एक नेटवर्क कार्ड या फिर साउंड कार्ड यहाँ ठीक जैसे साउंड कार्ड, सिर्फ साउंड सिग्नल को जनरेट करने का कार्य करता है और नेटवर्क कार्ड नेटवर्क सिगनल को जनरेट करने का कार्य करता है उसी प्रकार ग्रैफिक्स कार्ड ग्राफ़िक सिग्नल को जनरेट करने के कार्य करता है और किस प्रकार की सिग्नल यानी किस प्रकार का ग्राफिक्स जनरेट करना है यह प्रोसेसर और हमारे दुवारा दिया इनपुट पर निर्भर करता है। 

यदि हम अपने दिमाग के किसी खाश हिस्से को ग्राफिक्स कार्ड माने और अपने आँख को डिस्प्ले या मॉनिटर माने तो फिर इसे उदाहरण के साथ समझना और भी आसान हो जाता है।  हमारा दिमाग जो कि एक Graphic Card कार्ड की तरह है,  इसके अपने मेमोरी और प्रोसेसिंग यूनिट है किसी भी प्रकार की विजुअल जनरेट करने के लिए इलेक्ट्रोकेमिकल सिग्नल उत्पन्न करता है और फिर हमारा दिमाग इस इलेक्ट्रोकेमिकल सिग्नल को हमारे आँख तक भेजता है जिससे कि हम किसी भी विजुअल्स को अच्छे से देख सकते हैं और पुनः हमारा दिमाग आंख द्वारा ली गई विसुअल को रिसीव कर उसे समझने की कोशिश करता है। तो इस तरह हम लगभग हर चीज का इमेज देख और समझ सकते हैं। 


ग्राफिक कार्ड के प्रकार

ग्राफिक्स कार्ड मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है पहला Integrated Graphics Card (इंटीग्रेटेड ग्रैफिक्स कार्ड) और दूसरा डिस्क्रीट (Discrete) ग्राफिक्स कार्ड, इसे हम डेडीकेटेड ग्रैफिक्स कार्ड भी कहते हैं।  तो आइए अब हम इनके बारे में थोड़ा सा समझ लेते हैं। हालाँकि मैंने इन दोनों के बारे में ऊपर के पैराग्राफ में समझा दिया है फिर भी यहां पर आप इसे दुबारा से समझ सकते हैं। 

Integrated Graphics Card

वैसे ग्राफिक्स कार्ड जो मदरबोर्ड के साथ निर्मित होते हैं यानि अटैच रहते है, उन्हें Integrated Graphics Card के रूप में जाना जाता है, और इस प्रकार का Graphics Card आमतौर पर अधिकांश बजट लैपटॉप और कंप्यूटर में उपयोग किया जाता है, जिन्हें आसानी से अपग्रेड नहीं किया जा सकता है और ना ही इसे मदरबोर्ड से हटाया जा सकता है।  चलिए अब हम समझते हैं डिस्क्रीट या डेडीकेटेड ग्रैफिक्स कार्ड क्या होता है। 

integrated gpu ka udaharan
Integrated gpu ka udaharan

Discrete या External या Dedicated Graphics Card

यह एक प्रकार का एक्सटर्नल ग्राफिक्स कार्ड है जो एक हार्डवेयर डिवाइस होता है और एक अतिरिक्त Graphics Processing Unit के लिए में मदरबोर्ड पर जोड़ा जाता है। चूँकि हमें कम समय में कंप्यूटर वीडियो और फोटो रेंडरिंग करते समय यानी ग्राफ़िक्स से सम्बंधित कार्य करते समय Graphics Processing Power को बढ़ाने की जरूरत पड़ती है ,इसीलिए अलग से हम खाश प्रकार का Graphic Card अपने कंप्यूटर मदर बोर्ड को समर्पित यानी डेडिकेट करते है। इसलिए इसे अक्सर डेडिकेटेड Graphic Card भी कहा जाता है। 

Discrete Graphics Card  के तीन प्रकार होते हैं

  1. PCI: PCI का पूरा नाम Peripheral Component Interconnect है। इस प्रकार का Graphic Card में पुराने मदर बोर्ड पर लगने वाले पोर्ट मिलते थे। इसका स्पीड निचे दिए गए दोनों Graphic Card के मुकाबले कम होता है। आजकल मॉडर्न कंप्यूटर या लैपटॉप के मदर बोर्ड में अब यह सपोर्ट नहीं करता है।  
  2. AGP: AGP का पूरा नाम Accelerated Graphics Port है। इस प्रकार का Graphic Card का स्पीड PCI के तुलना में अधिक होता है और यह इससे एडवांस है। 
  3. PCI Express: अभी के समय में इस प्रकार का Graphic Card सबसे ज्यादा एडवांस वर्शन का है, तथा इसका स्पीड ऊपर दिए गए दोनों प्रकार के ग्रैफिक्स कार्ड की तुलना में अधिक तेज होती है।

Note: 

यदि आप भी अपने कंप्यूटर और लैपटॉप में ग्राफिक कार्ड अपडेट करना चाहते हैं तो पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपके मदर बोर्ड में कौन सा यानी किस प्रकार का ग्रैफिक्स कार्ड सपोर्ट करता है आप Laptop, या मदरबोर्ड बनाने वाली कंपनी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जा कर पता लगा सकते हैं।  


Dedicated (डेडिकेटेड) और Integrated Graphic Card में क्याअंतर है?

Dedicated Graphics Card 

  • एक Dedicated Graphics Card आपके सीपीयू से पूरी तरह अलग आता है
  • Dedicated Graphics Card भी अपनी मेमोरी के साथ आते हैं, जिसे VRAM (Video RAM) कहते है। 
  • इसका इस्तेमाल हाई ग्राफिक्स वाले सॉफ्टवेयर को चलाने के लिए किया जाता है। 
  • इसे अपने कंप्यूटर के मदरबोर्ड में लगाने के बाद कंप्यूटर के डिस्प्ले या मॉनिटर में High Resolution (UJD, 4K, 8K) वाले वीडियोस और इमेजेस को अधिक वास्तविक रूप में देख सकते हैं। 
  • इसका परफॉर्मेंस बहुत ज्यादा होता है। 
  • डेडीकेटेड ग्रैफिक्स कार्ड में अलग से एक जीपीयू रहता है जिसे ग्राफिक्स कार्ड का दिमाग भी कहा जाता है। 
  • इसका कीमत काफी ज्यादा होता है और इससे अलग से खरीद कर मदर बोर्ड में लगाना  पड़ता है। 
  • डेडीकेटेड ग्रैफिक्स कार्ड एक नॉर्मल यूजर के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाता है बल्कि यह एक प्रोफेशनल वीडियो एडिटिंग, और हैवी ग्राफ़िक्स गेम खेलने वाले के लिए इस्तेमाल किया जाता है। 

Integrated Graphics Card

  • Integrated Graphics Card मदरबोर्ड के साथ निर्मित होते हैं यानि अटैच रहते है। 
  • इस प्रकार का Graphics Card को आसानी से अपग्रेड नहीं किया जा सकता है और ना ही इसे मदरबोर्ड से हटाया जा सकता है।
  • Integrated Graphics Card को ही हम जीपीयू कहते हैं,  क्योंकि इसमें ग्राफ़िक्स प्रोसेसिंग यूनिट, सीपीयू के साथ अटैच रहता है और रैम से मेमोरी लेता है। 
  • इसका परफॉर्मेंस बहुत कम रहता है। 
  • इसका इस्तेमाल साधारण कामों के लिए किया जाता है। 
  • वीडियो क्वालिटी इसमें ठीक-ठाक यानी एचडी (HD) और यूएचडी (UHD)मिल जाता है। 
  • इसको हमें अलग से खरीदने की जरूरत नहीं पड़ती है यह मदरबोर्ड के साथ इनबिल्ट यानी पहले से अटैच होकर मिलता है। 

ग्राफिक कार्ड के क्या-क्या Features होते है?

ग्राफिक्स कार्ड के वैसे तो अनेकों फीचर्स होते हैं सभी के बारे में बता पाना तो मुमकिन नहीं है लेकिन जो फीचर्स मैं जरूरी समझता हूं उसके बारे में नीचे विस्तार से बताया है। आप इन्हें पढ़ कर समझ सकते हैं और किसी  भी प्रकार के प्रश्न हो तो कमेंट में पूछ सकते है। 

  1. VM (Video Memory): ग्राफिक्स कार्ड की अपनी मेमोरी होती है। मेमोरी रेंज 128 MB से 4GB तक हो सकती है। हमें अधिक मेमोरी वाला ग्रफिक्स कार्ड खरीदना चाहिए। अधिक RAM, उच्च रिज़ॉल्यूशन स्क्रीन पर अधिक रंग को प्रोडूस यानि उत्पन करता है।

2. Cooling Fan: अधिकतर बजट वाले लैपटॉप या कंप्यूटर के ग्राफिक्स कार्ड में हमें हिट सिंक का सपोर्ट मिलता है।  जो अधिक मात्रा में उत्पन्न उस्मा को सिंक (कम) करता है। लेकिन किसी-किसी Graphic Card में  जो ज्यादा एक्सपेंसिव होता है, उसमे हमें कूलिंग फैन का भी सपोर्ट मिलता है। कूलिंग फैन एक खाश परिसर में तापमान को बनाये रखने का कार्य करता है,जिससे की Graphic Card में लगा GPU अपने पूरे परफॉरमेंस पर कार्य कर सके। 

इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइसेज में हीटिंग एक बड़ी समस्या होती है इसलिए हमें अधिक एफिशिएंसी के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइसेज को एक खास तापमान बनाए रखना पड़ता है। जिसके लिए आपने कई बार सीपीयू के ऊपर कूलिंग फैन लगा हुआ देखा होगा तो वहां पर कूलिंग फैन का काम सीपीयू का तापमान को बनाए रखना है ताकि सीपीयू अधिक एफिशिएंसी के साथ काम कर सके। 

3. Multiple Screen support: अधिकांश नए वीडियो कार्ड में दो मॉनिटर को एक कार्ड से जोड़ने की क्षमता होती है। वीडियो एडिटिंग के लिए यह फीचर बहुत महत्वपूर्ण है और हार्डकोर गेमर इस अतिरिक्त रियल एस्टेट फीचर को आतुर होता है। Multiple Screen support का इश्तेमाल से आप या तो दो अलग-अलग डेस्कटॉप देख सकते हैं या दो मॉनिटर को एक डेस्कटॉप बना सकते हैं।

4. Connection: Dedicated ग्राफिक्स कार्ड न केवल एक गेमर के लिए है, बल्कि जो लोग हाई-एंड वीडियो एडिटिंग सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं, उन्हें भी एक उच्च गुणवत्ता वाले ग्राफिक्स कार्ड के रूप में मदद मिलती है ताकि एक इमेज या वीडियो का रेंडरिंग का समय को कम किया जा सके। उदाहरण के लिए: PCI, PCIe कनेक्शन इत्यादि। 

5. Gaming And Video Editing Port: ग्राफिक कार्ड कई अलग-अलग पोर्ट का उपयोग करके मॉनिटर से जुड़ा होता है, किसी Graphic Card में मल्टीप्ल पोर्ट का फीचर देने से हम अलग-अलग पोर्ट सपोर्ट करने वाले मॉनिटर को कंप्यूटर में लगे Graphic Card के साथ जोड़ सकते है। ये कुछ सामान्य पोर्ट हैं जिनका उपयोग ग्राफिक्स कार्ड को मॉनिटर से जोड़ने के लिए किया जाता है।

  1. VGA: इसका पूरा नाम Video Graphics Array (वीडियो ग्राफिकस ऐरे) होता है। 
  2. HDMI:  इसका पूरा नाम High-Definition Multimedia Interface होता है। 
  3. DVI: इसका पूरा नाम Digital Visual Interface होता है। 

6. Other Technical Feature:  ग्राफिक्स कार्ड में ऊपर दिए गए फीचर्स के अलावा भी कई सारे टेक्निकल फीचर्स रहते हैं जिसका नाम नीचे दिया गया है। अगर आप भी टेक्निकल बैकग्राउंड से है या इनके बारे में जानते हैं तो किसी भी प्रकार का ग्रैफिक्स कार्ड लेने से पहले इनके सभी फीचर्स को अच्छे से पढ़कर समझ सकते हैं ताकि बाद में आपको पछताना पड़े। 

ग्राफिक्स कार्ड में मिलने वाले अन्य फीचर के नाम इस प्रकार है: 

  • Memory Interface
  • Graphics Engine: 
  • Chipset
  • Clock Speed
  • BUS Standard
  • Frame Rate: फ्रेम रेट को FPS (Frame Per Second) में मापा जाता है। आइए अब हम जानते हैं कि ग्राफिक कार्ड कौन सी कंपनी बनाती है  और पॉपुलर कंपनियों के नाम क्या है। 

ग्राफिक कार्ड के मुख्य कंपोनेंट्स कौन-कौन से है?

ग्राफिक कार्ड के मुख्य कंपोनेंट इस प्रकार होते हैं जो नीचे दिए गए हैं। 

1. GPU: इसका पूरा नाम Graphics Processing Unit है। यह ग्राफ़िक्स से सम्बंधित सभी कार्य को पूरा करने के काम आता है। GPU को डेडिकेटेड ग्राफिक कार्ड का दिमाग भी कहा जाता है। 

2. VRAM: इसका पूरा नाम वीडियो RAM (Random Access Memory) होता है जिसे वीडियो मेमोरी भी कहा जाता है इसका मुख्य कारण ग्राफिक्स डाटा को Store करना है ताकि बाद में GPU डाटा प्रोसेस करने के लिए इस्तेमाल में ले सकता है। 

3. VRM: इसका पूरा नाम वोल्टेज रेगुलेटर मॉड्यूल होता है या एक पावर सर्किट जो पूरे ग्राफिक्स कार्ड को पावर सप्लाई करता  है। 

4. Fan: यँहा Fan (फैन) का मतलब एक नॉर्मल पंखा ही है आप इसका कुछ और मतलब मत समझीय।  इसका मुख्य कार्य ग्राफिक कार्ड में लगे जीपीयू को ठंडा करना है जिससे कि तापमान नियंत्रण रहता है। 

5. Connection Port: ग्रैफिक्स कार्ड को कंप्यूटर के मॉनिटर से कम्युनिकेट करने के लिए यानी जुड़ने के लिए कनेक्शन वोट दिया जाता है जैसे कि एचडीएमआई  (HDMI), VGA इत्यादि। 

vga port image
vga port image
hdmi port image
hdmi port image

ग्राफिक कार्ड कौनसी कंपनी बनाती है

वैसे ग्राफिक्स कार्ड, आजकल के समय में कई सारी कंपनियां बनाती है सभी का नाम लिखने पर लिस्ट लम्बी हो जायेगी। लेकिन उनमें से जो पॉपुलर कंपनियां है उनके नाम बहुत कम है: जैसे इंटेल, NVIDIA इत्यादि। हम यह नहीं कह सकते हैं कि जो कंपनियां पॉपुलर नहीं है उसका ग्राफिक्स कार्ड अच्छा नहीं है या फिर जो कंपनियां पॉपुलर है, उसका ग्राफिक्स कार्ड काफी अच्छा है।  यह तो इस्तेमाल करने वाले यूजर पर निर्भर करता है की यूजर द्वारा खरीदे गए कंपनियों के ग्रैफिक्स कार्ड का एक्सपीरियंस कैसा है। 

नीचे मैंने मार्केट में सबसे पॉपुलर डेडीकेटेड ग्रैफिक्स कार्ड बनाने वाली कंपनियों का नाम दिया है। ये सभी कंपनियां मार्केट में बहुत लोकप्रिय है और एक से एक पावर फुल ग्रैफिक्स कार्ड बनाने के रूप में जाने जाते हैं। आप इन कंपनियों के ग्रैफिक्स कार्ड को ई-कॉमर्स वेबसाइट जैसे: फ्लिपकार्ट अमेजॉन, Alibaba और बिग बास्केट से ऑनलाइन आर्डर कर सकते हैं या फिरअपने आसपास के मार्केट में जाकर ऑफलाइन भी खरीद सकते हैं। 

मार्किट में पॉपुलर Graphic Card बनाने वाली कंपनीयों के नाम:

  1. Intel: Iris Xe Max Graphics, 
  2. AMD: RX 5000M Series (ex. RX 5600M)
  3. NVIDIA

आपके Laptop या कंप्यूटर में कौन सा Graphic Card है? ऐसे चेक करें

  1. सबसे पहले विंडो सर्च बार में जाकर टाइप कीजिए Task Manager और फिर आइकॉन पर क्लिक कर ओपन कीजिए। आप अपने Laptop में कीबोर्ड शॉर्टकट Ctrl+Shift+Esc का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। 
  2. आपके सामने कुछ इस तरह का इंटरफ़ेस दिखाई दे रहा होगा फिर आप Performance टैब पर क्लिक कीजिए और उसके बाद नीचे आपके Laptop में कौन सा सीपीयू है कितना जीबी का RAM इन्सटाल्ड है और नीचे उसके कौन सा जीपीयू है इत्यादि देखने के लिए ऑप्शन मिल जाता है। 
graphics card view in Task manager
  1. अब ऊपर दिए गए इमेज के अनुसार जीपीयू पर क्लिक कीजिए तो आपके Laptop में जितना जीबी का ग्राफ़िक्स कार्ड लगा है वह Shared Memory (शेयर्ड मेमोरी) में दिखाई देगा और जिस कंपनी का जीपीयू लगा है या फिर ग्राफिक्स कार्ड लगा है उसका नाम भी दिखाई देगा। फिलहाल मेरे Laptop में Integrated GPU है जो इंटेल कंपनी का इंटेल एचडी 600 है। 
view gpu under gpu tab

ग्राफ़िक्स कार्ड से सम्बंधित कॉमन प्रशनों के उत्तर

1. Dedicated और Integrated graphics कार्ड में क्या अंतर होता है?

Dedicated Graphics Card आपके सीपीयू से पूरी तरह अलग आता है, जिसे अलग से खरीद कर मदर बोर्ड में इनस्टॉल किया जाता है। Dedicated Graphics Card का अपना खुद का GPU और मेमोरी होता है, मेमोरी को VRAM (Video RAM) भी कहते है। जबकि, 
Integrated Graphics Card मदरबोर्ड के साथ निर्मित होते हैं यानि अटैच रहते है। इस प्रकार का Graphics Card को आसानी से अपग्रेड नहीं किया जा सकता है और ना ही इसे मदरबोर्ड से हटाया जा सकता है। इसके पास अपना खुद का मेमोरी नहीं होता है।  यह मदर बोर्ड में उपस्थित रैम से मेमोरी लेता है जिसे शेयर्ड मेमोरी भी कहते हैं। Integrated Graphics Card को GPU कहा जा सकता है। 

2. Discrete या Dedicated ग्राफ़िक्स कार्ड को और किन नामों से जानते है?

Discrete या Dedicated ग्राफ़िक्स कार्ड को निम्नलिखित नामों से जाना जाता है:
1. Expansion Card
2. Dedicated Card
3. Video card
4. Display card
5. Graphics adapter और 
Video adapter इत्यादि। 
तो इतने सारे नाम में आप कंफ्यूज मत कीजियेगा, ये सभी नाम कंप्यूटर मदर बोर्ड में अलग से Graphic Card लगाने के लिए इश्तेमाल होता है।

3. GPU क्या होता है और यह किस काम में आता है?

GPU का पूरा नाम Graphics Processing Unit होता है। यह कंप्यूटर या फिर Laptop के मदर बोर्ड में इनबिल्ट मिलता है, जो अकेला ही ग्राफ़िक्स से सम्बंधित सभी कार्य करता है। आपने CPU के बारे में अवश्य सुना होगा, जैसे CPU कंप्यूटर के सभी गणितीय गणना को पूरा करने के काम आता है, उसी प्रकार GPU ग्राफ़िक्स से सम्बंधित सभी कार्य को पूरा करने के काम आता है।

4. ग्राफिक्स कार्ड का दिमाग किसे कहा जाता है?

GPU को ग्राफ़िक्स कार्ड का दिमाग कहा जाता है, क्यूंकि डेडीकेटेड ग्रैफिक्स कार्ड में अलग से एक जीपीयू इनस्टॉल रहता है, जो ग्राफिक से संबंधित सभी गणितीय गणनाओं को प्रोसेस करता है इसलिए GPU को ग्राफिक्स कार्ड का दिमाग भी कहा जाता है। 

5. Graphic Card और GPU में क्या अंतर है?

यदि हम इन दोनों शब्दों को मनुष्य से तुलना करें तो Graphic Card एक पूरे शरीर की तरह है, और GPU मनुस्य के दिमाग के तरह है। ठीक जैसे मनुष्य का शरीर उसके दिमाग के बिना अधूरा है, उसी तरह सिर्फ ग्राफ़िक्स कार्ड बस एक नार्मल कार्ड के तरह जब तक की उसमे GPU न लगा हो। ध्यान दीजिए:
Graphic Card और GPU को कई बार इश्तेमाल करने के आधार पर एक ही नाम से पुकारा जाता है, लेकिन इनमें अंतर तब करना चाहिए जब आप एक डेडिक्टेड ग्राफ़िक्स कार्ड खरीदते है, या इश्तेमाल करते है। क्यूंकि सिर्फ डेडिक्टेड  ग्राफ़िक्स कार्ड में ही यह अंतर करना उचित है अन्यथा इनबिल्ट ग्राफ़िक्स कार्ड में अंतर करना अनुचित है।

6. GPU और CPU का पूरा नाम क्या होता है?

GPU और CPU का पूरा नाम इस प्रकार है:
GPU: Graphics Processing Unit 
CPU: Central Processing Unit या Control Processing Unit

7. GPU और CPU में क्या अंतर होता है?

GPU और CPU में  कोई बड़ा अंतर नहीं है इनकी बनावट काफी हद तक सामान होता है, और कार्स करने का तकनीक भी समान होता है।  इनमें सिर्फ कार्य करने के उद्देश्य के आधार पर अंतर किया जा सकता है जैसे: CPU कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर और पेरीफेरल डिवाइस से सम्बंधित सभी गणितीय गणनाओं को पूरा करने के काम आता है। लेकिन GPU सिर्फ ग्राफ़िक्स यानि Video प्रोसेसिंग और Decoding से सम्बंधित सभी कार्य को पूरा करने के काम आता है। 

8. Graphic Card में क्या-क्या कंपोनेंट्स होते है?

ग्राफिक कार्ड के मुख्य कंपोनेंट इस प्रकार होते हैं जो नीचे दिए गए हैं: 
GPU: इसका पूरा नाम Graphics Processing Unit है। यह ग्राफ़िक्स से सम्बंधित सभी कार्य को पूरा करने के काम आता है।
VRAM: इसका पूरा नाम वीडियो RAM (Random Access Memory) होता है
VRM: इसका पूरा नाम वोल्टेज रेगुलेटर मॉड्यूल होता है 
Cooling Fan: यह फैन का मतलब एक नॉर्मल पंखा ही है आप इसे कुछ और मतलब मत समझीय।
Heat Sink:  यह कूलिंग फैन का एक अट्रैक्टिव ऑप्शन है।  Heat Sink का इस्तेमाल हिट को कम करने के लिए किया जाता है। जो महंगे ग्राफ़िक्स कार्ड के तुलना में एक सस्ता ग्रैफिक्स कार्ड में लगा होता है।
Connection Port:
VGA: इसका पूरा नाम Video Graphics Array (वीडियो ग्राफिकस ऐरे) होता है। 
HDMI:  इसका पूरा नाम High-Definition Multimedia Interface होता है। 
DVI: इसका पूरा नाम Digital Visual Interface होता है। 

9. Graphic Card में VRM और VRAM का क्या मतलब होता है?

Graphic Card में VRM का मतलब  वोल्टेज रेगुलेटर मॉड्यूल होता है जो ग्राफिक्स कार्ड में सभी इलेक्ट्रॉनिक्स कंपोनेंट्स को रेगुलेटेड पावर सप्लाई देने का कार्य करता है। जबकि VRAM का मतलब वीडियो रेंडम एक्सेस मेमोरी होता है। इसे सरल रूप में वीडियो मेमोरी भी कहते हैं। VRAM का स्टोरेज कैपेसिटी Mb (Megabyte) और Gb (Gigabyte) मैं मापा जाता है जो 512 Mb से लेकर 4Gb तक हो सकता है। 

10. Graphic Card में किसी मॉनिटर को कनेक्ट करने के लिए कितने तरह के पोर्ट्स मिलते है?

एक अच्छा ग्राफिक्स कार्ड में हमें कई प्रकार के पोर्ट मिलते हैं जिससे हम किसी भी प्रकार के मॉनिटर या फिर डिस्प्ले को ग्राफ़िक्स कार्ड के साथ कनेक्ट कर सकते हैं।  कॉमन ग्राफिक्स कार्ड में दिए जाने वाले कुछ सामान पोर्ट के नाम नीचे दिए गए हैं: 
VGA: इसका पूरा नाम Video Graphics Array (वीडियो ग्राफिकस ऐरे) होता है। 
HDMI:  इसका पूरा नाम High-Definition Multimedia Interface होता है। 
DVI: इसका पूरा नाम Digital Visual Interface होता है। 

11. मुझे किस प्रकार का डेडिकेटेड ग्राफ़िक्स कार्ड अपने Laptop में लगाना चाहिए? 

यदि आप अपने कंप्यूटर पर ग्राफिक से संबंधित कार्य करते हैं और आप ग्रैफिक्स कार्ड अपडेट करना चाहते हैं तो मार्केट में जा कर कंप्यूटर दुकान पर आपको सिंपली बोलना पड़ेगा कि मुझे एक्सटर्नल, या  डेडीकेटेड ग्रैफिक्स कार्ड लगाना है,  तो वह दुकान वाला आपकी बात को समझ कर आपसे ग्राफिक कार्ड की मेमोरी कैपेसिटी और कंपनी का नाम पूछेगा तो आपका जो भी रिक्वायरमेंट है 2gb, 4Gb,  6GB उस हिसाब से लगा सकते हैं। 
परंतु इससे पहले आप यह सुनिश्चित कर लें कि आप के मदरबोर्ड में किस प्रकार का एक्सटर्नल ग्रैफिक्स कार्ड सपोर्ट करता है।  क्योंकि एक्सटर्नल ग्राफिक्स कार्ड के तीन प्रकार हैं, और इन तीनों के अपने-अपने फीचर्स होते है, जिसे इसी आर्टिकल में अच्छे से बताया गया है। 

12. डेडिकेटेड ग्राफ़िक्स कार्ड किसे लगाना चाहिए और इसमें ध्यान देने वाली बात क्या है?

ध्यान दीजिए की पीसी पर काम करने के लिए अधिकांश लोगों को डेडिकेटेड ग्राफिक्स कार्ड की आवश्यकता नहीं होती है। जो लोग सिर्फ फाइलें बनाना, ऑफिस का काम करना, फिल्में देखना, गाने सूचीबद्ध करना आदि जैसे बुनियादी काम करते है तो उनके लिए एक्सटर्नल ग्राफिक्स कार्ड की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन उच्च रिज़ॉल्यूशन वाले गेम खेलने वाले, इमेज, वीडियो रेंडरिंग करने वाले के लिए एक्सटर्नल या डेडिकेटेड ग्राफिक्स कार्ड की आवश्यकता होती है और यंही आपके लिए ध्यान देने वाली बात है। 


निष्कर्ष

तो आज आपने इस आर्टिकल में ग्राफिक्स कार्ड से संबंधित लगभग सभी जानकारियों को हासिल किया।  मैंने आपको एक-एक करके लगभग सभी टॉपिक्स को आसान भाषा में समझाने का कोशिश किया। जैसे कि सबसे पहले आपने जाना कि ग्राफिक्स कार्ड क्या होता है। Graphics Card या GPU एक हार्डवेर डिवाइस है, 

जो Laptop और कंप्यूटर के डिस्पले (Monitor) के लिए Image या Videos को जेनेरेट करता है। जैसे: 

Acer predator – Nvidia GTX 1050 4GB Graphics Card.

Alienware 17 –Nvidia Geforce GTX 1070 8GB Graphics Card. इत्यादि ग्राफ़िक्स कार्ड के उदाहरण है। 

फिर आपने जाना की Graphic कार्ड हमारे किस काम आता है? तो इसका उत्तर यह है की Graphics Card, हमारे कंप्यूटर में एक्स्ट्रा Graphics Processing Power को बढ़ाने के लिए इश्तेमाल किया जाता है। जितना अधिक प्रोसेसिंग पावर होता है, हमारा समय उतना ही बचता है। फिर आपने ग्राफिक कार्ड के प्रकार के बारे में जाना की ग्राफ़िक्स कार्ड के मुख्य दो प्रकार है: 1. Integrated Graphics Card और 2. Discrete या External या Dedicated Graphics Card

वैसे ग्राफिक्स कार्ड जो मदरबोर्ड के साथ निर्मित होते हैं यानि अटैच रहते है, उन्हें Integrated Graphics Card के रूप में जाना जाता है, जबकि External या Dedicated Graphics Card वैसा हार्डवेयर डिवाइस होता है जो एक अतिरिक्त Graphics Processing Unit बढ़ने के लीये मदरबोर्ड पर जोड़ा जाता है।

External Graphics Card  के भी तीन प्रकार होते हैं:

  • PCI (Peripheral Component Interconnect) है।
  • AGP (Accelerated Graphics Port) तथा 
  • PCI Express 

आपने फिर जाना की Dedicated (डेडिकेटेड) और Integrated Graphic Card में इनके इश्तेमाल के आधार पर अंतर किया जा सकता है। Dedicated Graphics Card सीपीयू से पूरी तरह अलग आता है और Integrated Graphics Card मदरबोर्ड के साथ निर्मित होते हैं यानि अटैच होता है। आपने फिर ग्राफिक कार्ड में मिलने वाले Features के बारे में जाना जैसे:

  1. VM (Video Memory)
  2. Cooling Fan or Heat Sink
  3. Multiple Screen support
  4. Connection Port
  5. Gaming And Video Editing 
  6. ग्राफिक्स कार्ड में मिलने वाले अन्य फीचर के नाम इस प्रकार है। 
  7. Memory Interface
  8. Graphics Engine
  9. Chipset
  10. Clock Speed इत्यादि। 

इसके बाद में पुनः आपने जाना की ग्राफिक कार्ड में GPU, VRAM: वीडियो RAM (Random Access Memory), VRM: वोल्टेज रेगुलेटर मॉड्यूल, Cooling Fan: तथा Heat Sink इत्यादि मुख्य कंपोनेंट्स होते है। फिर मैंने आपको कंप्यूटर में Installed (इन्सटाल्ड) Graphic Card को चेक करना का तरीका भी बताया, की आप Task Manager में जाकर अपना ग्राफ़िक्स कार्ड चेक कर सकते है। 

और फिर आपने सबसे अंत में जाना की मार्किट में सबसे पॉपुलर Graphic Card बनाने वाली कंपनीयों के नाम Intel, NVIDIA, AMD, Gigabyte और Asus इत्यादि शामिल है। अगर अभी भी आपको किसी भी प्रकार का डाउट है तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं मैं आपके कमेंट का रिप्लाई जरूर दूँगा। 

आपके काम की अन्य पोस्ट:-

मुझे टेक्नोलॉजी के बारे में पढ़ना और लिखना बहुत अच्छा लगता है। इंटरनेट टेक्नोलॉजी के बारे में लोगों के साथ जानकारी शेयर करके मुझे खुशी महसूस होती है। इसके अलावा फोटोग्राफी करना मेरी हॉबी है। मैंने एक इंजीनियर के रूप में शिक्षा ली है और पेशे से अब मैं एक पार्ट-टाइम Professional Blogger हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here