Nokia कहा की कंपनी है इसका मालिक कौन है इतिहास

नोकिया कंपनी का इतिहास 155 साल पुराना है, अगर आपकी उम्र 20 साल के आस पास है तो आपने अपने जीवन मे कभी ना कभी Nokia का फोन इस्तेमाल किया होगा, यदि आपने नहीं किया तो आपकी फॅमिली के किसी सदस्य ने तो जरूर किया होगा। इस ब्लॉग पोस्ट मे Nokia कहा की कंपनी है इसकी शुरुआत कैसे हुई और इसका निर्माण किसने किया इसके बारे मे आप विस्तार से जानोगे। 

nokia ke bare me

जब कीपैड फोन का जमाना था तो नोकिया मार्केट व लोगों के दिलों मे राज किया करता था, अगर किसी को भी नया फोन लेना होता तो उसे सब नोकिया का फोन खरीदने की ही सलाह देते थे, मुझे भी याद है मेरी फॅमिली मे भी Nokia 1200 व नोकिया 1100 फोन थे और मैं उनमें रोज सांप वाला गेम खेला करता था। 

इसके बाद जब भारत मे इंटरनेट का इस्तेमाल होना शुरू हुआ तो Nokia के कीपैड फोन मे इंटरनेट काफी सही चलता था, 2010 के आस पास लोग नोकिया का फोन इसलिए भी खरीदने लगे थे क्योंकि इसमे Facebook काफी अच्छे से चलता था और आप अलग से कुछ ऐप डाउनलोड भी कर सकते थे। 

Nokia किस देश की कंपनी है?

नोकिया फ़िनलैंड की एक मल्टीनैशनल टेलकम्यूनिकैशन, इनफार्मेशन टेक्नॉलजी व कन्सूमर इलेक्ट्रानिक्स बनाने वाली कंपनी है जिसका मुख्यालय कैलानिएमी (Kailaniemi) एस्प्रो  फ़िनलैंड में स्थित है, कंपनी की स्थापना 12 मई 1865 मे Fredrik Idestam व इनके साथियों Eduard Palon, Leo Mechelin द्वारा की गई थी। 

नोकिया 130 से भी ज्यादा देशों मे अपनी सेवाएं देती है इसके अलावा पूरी दुनिया मे नोकिया कंपनी के लिए 1 लाख 3 हजार लोग काम करते है, Nokia कन्सूमर इलेक्ट्रॉनिक बनाने के अलावा टेलीकॉम इक्विप्मन्ट, नेटवर्किंग इक्विप्मन्ट बनाने पर भी काम करती है, फास्ट इंटरनेट बनाने मे नोकिया का काफी योगदान है इसके अलावा कंपनी अभी 5G इंटरनेट नेटवर्किंग टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है। 

नोकिया एक पब्लिक कंपनी है जो की फ़िनलैंड के हेलसिंकी स्टॉक एक्सचेंज व अमेरिका के न्यू यॉर्क स्टॉक एक्सचेंज मे लिस्टेड है। Nokia कंपनी की शुरुआत व सफर काफी दिलचस्प रहा है आज भले की कंपनी का नाम दुनिया के 500 सबसे बड़ी कंपनीयो कि लिस्ट मे आता हो लेकिन इसकी शुरुआत एक टॉइलेट पेपर बनाने वाली कंपनी से हुई थी। 


Nokia कंपनी किसने बनाई मालिक कौन है? 

नोकिया कंपनी की शुरुआत 12 मई 1865 मे Fredrik Idestam व इनके साथियों Eduard Palon, Leo Mechelin द्वारा की गई थी, जब कंपनी बनाई गई थी तो वो टॉयलेट पेपर व रबर बनाने का व्यापार करती थी, Fredrik Idestam का जन्म 28 अक्टूबर 1838 को हुआ ये एक माइनिंग इंजीनियर व बिजनेसमैन थे 8 अप्रैल 1916 को उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। 

नोकिया कंपनी के दूसरे संस्थापक Leo Mechelin जो की बिजनेसमैन होने के साथ साथ एक राजनेता, प्रोफेसर लिबरल रिफॉर्मर थे, इन्ही की कोशिश से फ़िनलैंड दुनिया का वो पहला देश बना जिसमे महिलाओ को भी पुरुषों के समान वोट देने का अधिकार प्राप्त हुआ। Leo Mechelin का जन्म 24 नवंबर 1839 व मृत्यु 26 जनवरी 1914 को हुई। 

नोकिया कंपनी के तीसरे फाउन्डर Eduard Polon जिनका जन्म 16 जून 1861 को हुआ, इन्ही की बिज़नस लीडर्शिप मे फ़िनलैंड ने रबर व आधुनिक टिम्बर और केबल बनाने का व्यापर शुरू किया, ये एक राजनेता भी थे 30 सितंबर 1930 को इन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। 


Nokia का इतिहास

नोकिया कंपनी की शुरुआत और सफर काफी दिलचस्प रहा, इसकी शुरुआत एक पेपर मिल से हुई इसके बाद कंपनी ने मार्केट और लोगों के दिलों मे राज किया फिर एक समय ऐसा भी आया जब कंपनी के फोन बिकना बंद हो गए और लोगों के दिमाग से Nokia नाम धीरे धीरे गायब होने लगा तभी कंपनी ने फिर से शुरुआत की और मार्केट मे अच्छे अच्छे फोन और स्मार्ट टीवी लॉन्च किए। 

नोकिया का इतिहास आज से 155 साल पहले से शुरू होता है जब Fredrik Idestam ने जो की पेसे से एक माइनिंग इंजीनियर थे पल्प मिल शुरू की, ये एक मैन्युफैक्चरिंग सुविधा थी जो लकड़ी और प्लांट फाइबर को फाइबर बोर्ड मे बदलती थी। इसके बाद इस तरह की दूसरी मिल 1868 मे खोली गई। 

1871 मे Fredrik और उनके दोस्त Leo Mechelin ने कंपनी को Nokia Ab नाम दिया, फिर नोकिया के साथ मिलकर Eduard Polon जो की नोकिया कंपनी के तीसरे संस्थापक है उन्होंने रबर का व्यापार शुरू किया, इस व्यापार मे कंपनी ने Eduard की लीडरशिप मे काफी तरक्की की साथ ही केबल फैक्ट्री को भी इसमें मिला लिया गया।

1967 मे तीनों फाउंडर द्वारा किये गए अलग अलग काम के लिए बनाई गई कंपनी को मिला दिया गया और इस तरह नोकिया कॉरपोरेशन की शुरुआत हुई। इसके बाद नोकिया मे फ़िनलैंड की मिलिट्री के लिए भी तरह तरह से इक्विप्मन्ट बनाये । 


सारांश 

यहा आपने जाना की नोकिया कहा की कंपनी है और इसे किसने बनाया, नोकिया कंपनी आज भले ही पहले जितनी पॉपुलर ना हो लेकिन लोग आज भी इस पर उतना ही भरोसा करते है, नोकिया अपने अन्य बिजनेस मे तो हमेशा से ही अच्छा करती आई है। उम्मीद है अब आगे HMD Global के अन्डर कन्सूमर इलेक्ट्रॉनिक के बाजार मे भी अच्छा करें। 

आपके काम की अन्य पोस्ट:-

मुझे इंटरनेट टेक्नोलॉजी के बारे में जानने और इसे लोगो के साथ शेयर करना अच्छा लगता है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हु। इसके अलावा मुझे अच्छी किताबें पढ़ने और लोगों को ऑब्ज़र्व करना भी अच्छा लगता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here